सऊदी अरब में सिर कलम करने वाले जल्लाद को कहते हैं सुल्तान, ऐसी होती है मौत की सजा देने की पूरी प्रक्रिया
प्रतीकात्मक तस्वीर, (फोटो क्रेडिट्स: फाइल फोटो)

सऊदी अरब को अपने कड़े कानून के लिए जाना जाता है. यहां मुजरिमों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान है. यहां दी जाने वाली सजा सुनकर लोगों की रूह कांप जाती है. हालही में सऊदी में एक ऐसा मामला सामने आया जिसे सुनकर लोग बौखला गए हैं. यहां 37 लोगों को सिर कलम करने की सजा सुनाई गई है. सऊदी अरब के इस फैसले की बहुत सारे देशों ने आलोचना की है. सऊदी ने अपने 37 नागरिकों को आतंकवाद का समर्थन करने पर ये कड़ी सजा सुनाई है. सऊदी एक तानाशाह देश है यहां सत्ता के खिलाफ बोलना आतंकवाद माना जाता है. इसके लिए बड़ी ही बेरहम सजा सुनाई जाती है. जिसे सुनकर लोगों की रूह कांप जाती है.

सऊदी अरब में सिर कलम करने को लेकर कुछ खास नियम हैं. सजा वाले दिन आरोपियों को पैदल चलाकर राजधानी रियाद के 'चॉप चॉप स्क्वेयर' लाया जाता है. यहां पर प्रोफेशनल जल्लाद मौजूद होते हैं, इन्हें सुल्तान कहा जाता है. जल्लादों को एक ही बार में आरोपी का सिर धड़ से अलग करना पड़ता हैं. अगर ऐसा नहीं हुआ तो जल्लादों को सजा दी जाती है. यहां सिर कलम करने के नियम के अनुसार एक बार में ही खच की आवाज के साथ सिर धड़ से अलग हो जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें: सऊदी अरब: फेसबुक पर महिला ने अपने एक्स पति की पत्नी को कहा अपशब्द, हुई दो साल की सजा और 45 लाख का जुर्माना

आपको बता दें कि आपराधियों को मौत की सजा देने से पहले लोगों में सजा की जानकारी फैला दी जाती है. ताकि सजा के समय लोगों का हुजूम वहां जमा हो जाए और लोगों में दहशत बनी रहे ताकि लोगों के दिमाग में जुर्म करने का ख्याल भी न आए.