देश में कोरोना वायरस के मामलों में बहुत से वृद्धि दर्ज की जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जा जारी किए गए लेटेस्ट आकड़े में अब तक देश में कुल कोरोना वायरस संक्रमण के 1834 कन्फर्म केस सामने आए हैं. इनमें से 50 की मौत भी हो चुकी है, वहीं 144 मरीज ठीक हो चुके हैं. बता दें कि देश में पिछले 24 घंटों में 437 नए मामले सामने आए हैं.

भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश के सरधना से विधायक संगीत सोम ने कहा कि कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोग यहां कोरोना आंतकवाद फैला रहे हैं. जानबूझ कर विदेशों से लोग भारत भेजे गए, जिससे यहां यह बीमारी फैले. संगीत सोम ने एक चैनल को दिए गए साक्षात्कार में कहा, "दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के शामिल लोगों के साथ आतंकवादियों की तरह व्यवहार होना चाहिए. यह सोची समझी साजिश के तहत किया गया है. कोरोना वायरस के बचने के लिए जहां इस समय पूरा देश घर में है तो यह लोग एक साथ क्या कर रहे थे. जहां एक तरफ विश्वभर में कोरोना वायरस फैल रहा है, वहीं देश में साजिश के साथ कोरोना आतंकवाद फैलाया जा रहा है."

मुंबई स्थित धारावी के शाहू नगर एरिया में कोरोना पॉजिटिव पाए गए 56 वर्षीय व्यक्ति की सायन अस्पताल में मौत हो गई.

पश्चिम बंगाल सरकार ने नई दिल्ली में तब्लीगी जमात द्वारा आयोजित धार्मिक मंडली में शामिल रहे 54 लोगों को क्वोरंटीन किया है, जिसमें 40 विदेशी शामिल हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को यहां मीडिया से कहा कि राज्य से 71 लोगों ने इस धार्मिक आयोजन में हिस्सा लिया था.

उत्तरप्रदेश में बुधवार को संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 116 हो गई. इसमें सर्वाधिक गौतमबुद्ध नगर के हैं, जहां संक्रमितों की संख्या 48 तक पहुंच गई है. संक्रामक रोग विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. विकासेंदु अग्रवाल ने बताया, "प्रदेश में अबतक 116 पॉजिटिव केस आए हैं."

मुंबई के धारावी के शाहू नगर में एक कोरोना वायरस पॉजिटिव केस पाया गया है. बृहन्मुंबई नगर निगम की एक टीम मौके पर मौजूद. पुलिस उस इमारत को सील करने की योजना बना रही है. अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है.

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बुधवार को कहा कि राज्य में कोरोनावायरस के 24 नए मामले सामने आए हैं, जिससे यहां इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 225 हो गई है. विजयन ने कहा, " कुल 1,64,130 लोग निगरानी में हैं, जिसमें से 622 राज्य के विभिन्न अस्पताल में भर्ती हैं. कासरगोड में आज 12 मामले सामने आए हैं."

कोरोना संकट के बीच चाइनीज वीडियो एप्प टिक टॉक ने बड़ा ऐलान किया है. कंपनी ने देश को चार लाख हज्मत सूट डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ के लिए देने जा रही है.

कोरोना वायरस: सुप्रीम कोर्ट के 33 जजों ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में 50,000 रुपये का दान दिया है.

भारत सरकार ने PMCARES के लिए विदेशी दान प्राप्त करने का निर्णय लिया है: सूत्र

Load More

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को एक वीडियो जारी किया जिसमें एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी निजामुद्दीन मरकज के सदस्यों से अनुरोध कर रहे हैं कि वे आगंतुकों से अपने गृह क्षेत्र वापस जाने को कहें ताकि कोरोना वायरस की रोकथाम के मद्देनजर सामाजिक दूरी कायम करने के लिए जारी सरकारी आदेशों का पालन हो सके. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि वीडियो 23 मार्च को हजरत निजामुद्दीन के थाना प्रभारी (एसएचओ) कार्यालय में बनाया गया था. वीडियो में दिख रहा है कि एसएचओ मरकज के सदस्यों से बार-बार कह रहे हैं कि सभी धार्मिक स्थल बंद हैं और एक स्थान पर पांच से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकते.

वह मरकज के सदस्यों से कह रहे हैं कि इसके बावजूद उनकी इमारत में बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हैं और यदि वे पुलिस की बात नहीं मानेंगे तो पुलिस को उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करनी पड़ेगी. वीडियो में पुलिस अधिकारी मरकज के सदस्यों को क्षेत्र को खाली करने का एक नोटिस भी दिखा रहे हैं. वीडियो जारी होने से पहले आम आदमी पार्टी के नेता अमानतुल्ला खान और आतिशी ने पुलिस पर क्षेत्र को खाली न कराने और कार्रवाई न करने का आरोप लगाया था.

आज के सभी मुख्य समाचार और ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहें.

वीडियो में एसएचओ मरकज के सदस्यों को सामाजिक दूरी बनाने की जरूरत के बारे में समझा रहे हैं और इमारत में रह रहे लोगों को निकालने के लिए एसडीएम से संपर्क करने को कह रहे हैं. बैठक के दौरान मरकज के सदस्यों में से एक एसएचओ को बीच में रोकता है और कहता है कि उन्होंने 1,500 लोगों को निकाल दिया है लेकिन लखनऊ, बिजनौर और वाराणसी के एक हजार लोग अभी भी इमारत में हैं. वीडियो में सदस्य कह रहे हैं कि लॉकडाउन के कारण आगंतुक इमारत खाली करने में असमर्थ हैं. अधिकारी उनसे कह रहे हैं कि वह एसडीएम से इस बारे में बात करेंगे.