जम्मू-कश्मीर में स्वैच्छिक आधार पर 21 सितंबर से खुलेंगे स्कूल, स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर का कराया जाएगा पालन
प्रतिकात्मक तस्वीर/कोरोनावायरस (Photo Credits: PTI)

श्रीनगर, 15 सितंबर: केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में 21 सितंबर से फिर से स्कूल खुलेंगे. हालांकि अधिकारियों ने कहा है कि स्कूल में छात्रों की उपस्थिति स्वैच्छिक रहेगी. एक अधिकारी ने बताया कि 21 सितंबर को 50 फीसदी कर्मचारियों और छात्रों के साथ स्कूल फिर से खुलेंगे. छात्रों की उपस्थिति को लेकर अभिभावकों से लिखित में सहमति ली जाएगी. इस दौरान स्कूलों में सभी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) का पालन किया जाएगा.

अधिकारी ने आगे कहा, "कक्षा 8वीं तक के 50 फीसदी कर्मचारी हर दिन स्कूल आएंगे, जबकि कक्षा 9वीं से 12वीं तक के 50 फीसदी छात्र स्वैच्छा से उपस्थित हो सकते हैं. यह अभिभावकों को तय करना है कि वे अपने बच्चों को स्कूल जाने की अनुमति देते हैं या नहीं. इसके अलावा ऑनलाइन कक्षाएं और डिजिटल एजुकेशन जारी रहेगी."

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: पुलवामा जिले के मारवाल इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी

बता दें कि कोविड -19 महामारी के कारण प्रदेश में मार्च से स्कूल बंद हैं. वहीं पिछले साल 5 अगस्त को धारा 370 और 35ए को समाप्त करने के बाद भी स्कूलों को बंद रखा गया था.