Riddhi Patel Video: कौन हैं रिद्धि पटेल? जिसने मेयर को दी गाली और हत्या की धमकी, हिन्दू विरोधी एक्टिविस्ट US में गिरफ्तार

बेकर्सफील्ड, कैलिफ़ॉर्निया में एक भारतीय-अमेरिकी महिला को नगर परिषद के सदस्यों और महापौर को "जान से मारने" की धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

कौन हैं रिद्धि पटेल?

28 वर्षीय रिद्धि पटेल एक फ़िलिस्तीन समर्थक कार्यकर्ता हैं. उन्हें 16 गंभीर अपराधों के आरोप में जेल में डाल दिया गया है. इनमें से आठ आरोप धमकी देकर आतंकित करने के इरादे से संबंधित हैं, जबकि बाकी आठ आरोप अपने भाषण के दौरान शहर के अधिकारियों को धमकी देने से जुड़े हैं.

क्या था मामला?

नगर परिषद की बैठक के दौरान जनता के लिए टिप्पणी का समय निर्धारित था. इस दौरान रिद्धि पटेल ने प्रस्तावित सुरक्षा उपायों, विशेष रूप से मेटल डिटेक्टर लगाने का विरोध किया. उन्होंने इसे जनता को अपराधी बनाने की कोशिश बताया.

पटेल ने परिषद को सीधे धमकी देते हुए कहा, "आप लोग मेटल डिटेक्टर लगाकर हमें अपराधी बनाना चाहते हैं. हम आपको आपके घर पर देखेंगे. हम आपकी हत्या कर देंगे." उन्होंने आगे कहा, "मुझे उम्मीद है कि एक दिन कोई गिलोटिन लाएगा और आप सभी को मार डालेगा."

उन्होंने बैठक में सिटी काउंसिल के सदस्यों को मां की गाली देते कहा था कि हर पीड़ित को अपने अत्याचारी के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन का अधिकार है और अच्छा होगा कि कोई गिलोटिन (सिर काटने का यंत्र) लाकर तुम सबका गला काट दे. उन्होंने दावा किया कि पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने बैठक में कभी मेटल डिटेक्टर नहीं देखा, इतनी पुलिस फ़ोर्स नहीं देखी, ये सब इसीलिए किया जा रहा है ताकि फिलिस्तीनियों को अपराधी साबित किया जा सके.

उन्होंने अपने भाषण के दौरान नवरात्रि को "उत्पीड़कों का त्यौहार" कहा और नगर परिषद के सदस्यों को धमकी देने से ठीक पहले महात्मा गांधी और जीसस क्राइस्ट का नाम लिया.

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

रिद्धि पटेल के भड़काऊ और आपत्तिजनक भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया. हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, "हम इस बात से नाराज हैं कि इस व्यक्ति ने बेकर्सफील्ड के नेताओं की हत्या की धमकी देते हुए गांधी और चैत्र नवरात्रि का नाम लिया."

एक भारतीय-अमेरिकी महिला ने रिद्धि के कृत्य की निंदा करते हुए लिखा, "एक ज्ञात हिंदू विरोधी, वह हिंदुओं के खिलाफ भी बोल रही है... यह वही यहूदी विरोधी भावना है."

नगर परिषद ने दी प्रतिक्रिया

उप महापौर आंद्रे गोंजालेस ने कहा कि परिषद धमकी से नहीं डरेगी. उन्होंने धमकियों की निंदा करते हुए उन्हें "पूरी तरह से अनुचित, अनुत्पादक और गंभीर रूप से चिंताजनक" बताया.

गोंजालेस ने कहा, "वयस्कों की तरह मेज पर बैठकर विचारों का आदान-प्रदान करें, आगे-पीछे जाएं और वास्तव में यह पता लगाने की कोशिश करें कि हम एक साथ कैसे रास्ता खोज सकते हैं. निर्वाचित अधिकारियों और निर्णय लेने वालों को वास्तविक धमकी देना दूसरों को प्रभावित करने का तरीका नहीं है. नगर परिषद में कोई भी कार्रवाई करने के लिए डराया नहीं जाएगा."

सुरक्षा उपायों को मंजूरी

विवाद के बावजूद, बेकर्सफील्ड नगर परिषद ने बुधवार की बैठक के दौरान सर्वसम्मति से मेटल डिटेक्टर सहित सुरक्षा बढ़ाने के उपायों को मंजूरी दे दी.