बिहार में शराब कानून का उल्लंघन करने पर तीन गिरफ्तार
प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credits : Pixabay)

पटना, 26 नवंबर: बिहार (Bihar) के दीघा-आशियाना रोड से एक कुख्यात अपराधी समेत तीन लोगों को राज्य में शराब की सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. राजीव नगर पटना के एसएचओ सरोज कुमार ने कहा, "हमारे पास कुख्यात अपराधी बिट्टू की गतिविधि के बारे में विशेष जानकारी थी. Delhi: प्रस्तावित शराब की दुकान के खिलाफ याचिका पर आप सरकार को हाईकोर्ट का नोटिस

हमने सड़कों पर बैरिकेड्स लगा दिए और वाहनों की जांच शुरू कर दी. उसे गुरुवार रात दो साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया. हमने व्हिस्की की महंगी बोतलें भी बरामद की हैं. "बिट्टू के बारे में जानकारी कुछ दिन पहले दीघा मोहल्ले में एक शीतल पेय एजेंसी पर छापेमारी के दौरान मिली थी. उस छापेमारी के दौरान, पटना पुलिस ने भारतीय निर्मित विदेशी शराब (आईएमएफएल) की 17 बोतलें जब्त की थीं. शीतल पेय एजेंसी के आधा दर्जन कर्मचारियों को भी गिरफ्तार किया था.

शीतल पेय एजेंसी का स्वामित्व नीलेश मुखिया नाम के एक भाजपा नेता के पास था, जो मौके से भागने में सफल रहा। गिरफ्तार व्यक्तियों ने खुलासा किया कि शराब की बोतलें बिट्टू द्वारा आपूर्ति की गई थीं. पूछताछ के दौरान बिट्टू ने कबूल किया कि उसके पटना में सक्रिय कई शराब आपूर्तिकर्ताओं और माफियाओं के साथ अच्छे संबंध हैं. बिट्टू होडिर्ंग पेंटर था और स्थानीय अपराधियों के संपर्क में आने के बाद बाइक से चेन व मोबाइल छीनने लगा और लूट व डकैती भी करने लगा.

पुलिस ने कहा कि उसके पास गुलदास्ता का उपयोग करके डकैती के लिए एक अनूठा तरीका था. वह पटना के एसके पुरी इलाके के एक फ्लैट में गया और हाथ में गुलदास्ता पकड़कर दरवाजा खटखटाया. फ्लैट मालिक ने दरवाजा खोला तो बिट्टू ने बंदूक की नोक पर उससे लूटपाट की. बिट्टू को उसकी शादी से कुछ दिन पहले रविवार को गिरफ्तार किया गया था.