पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भारतीय सेना के बारे में भड़काऊ ट्वीट करने वाले पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी को भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का प्रयास बंद करने को कहा है.

असम के डीकॉम टी इस्टेट की एक दुर्लभ किस्म की चाय ने मंगलवार 75,000 रुपये प्रति किग्रा की बोली आकर्षित कर एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया. जीटीएसी के केंद्रताओं के संघ के सचिव दिनेश बिहानी ने कहा कि ‘गोल्डन बटरफ्लाई’ नाम की यह चाय, शहर के ही व्यापारियों द्वारा खरीदी गई है.

सरकारी सूत्रों के मुताबिक, 15 अगस्त को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का श्रीनगर और जम्मू कश्मीर की यात्रा की कोई योजना नहीं है.

जम्मू के डिविजनल कमिश्नर संजीव वर्मा ने बताया कि पूरे जम्मू प्रांत में अब सामान्य स्थिति है.

 

खाद्य सामग्री के महंगा होने के बावजूद खुदरा महंगाई दर जुलाई में इससे पूर्व महीने के मुकाबले मामूली घटकर 3.15 प्रतिशत पर आ गई.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि आज शाम 4:20 बजे जम्मू और कश्मीर में रिक्टर पैमाने पर 4.2 तीव्रता वाले भूकंप के झटके महसूस किए गए.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के सोनभद्र में उम्भा गांव के दौरे के बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को कहा कि सपा और कांग्रेस को घडियाली आंसू बहाने की बजाय वहां के पीड़ित आदिवासियों की जमीन वापस दिलाने में मदद करनी चाहिए. 

 

कश्मीर में धारा 370 रद्द किये जाने पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पहली बार बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 जिस तरह से हटाया गया वह असंवैधानिक है.

 

अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर आज सुप्रीम कोर्ट ने रामलला के वकील से जमीन पर कब्जे के सबूत तलब किये. 

Load More

केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के ऐतिहासिक फैसले से बौखलाए पाकिस्तान (Pakistan) ने दुनिया के कई देशों के सामने गुहार लगाई है, जिसमें चीन का नाम भी शामिल है. चीन (China) ने जब कश्मीर के मसले पर भारत से सवाल किया तो विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ऐसा जवाब दिया कि चीन की बोलती ही बंद हो गई. दरअसल, सोमवार को विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने चीनी विदेश मंत्री वांग ली के साथ सोमवार को बीजिंग में मुलाकात की. दोनों विदेश मंत्रियों की इस मुलाकात के दौरान कश्मीर का मुद्दा भी उठा, लेकिन एस. जयशंकर ने ऐसा तर्क दिया कि उसके आगे चीन कुछ नहीं कह पाया.

जम्मू-कश्नमीर से धारा 370 हटाने और राज्य के पुनर्गठन करने का मामला सामने आया तो विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि भारत ने जो फैसला किया है वह उसके संविधान के तहत है. उससे न तो पाकिस्तान की सीमा पर कोई असर होता है और न ही चीन की. आज के सभी मुख्य समाचार और ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहें.

बता दें कि चीन ने भारत के सामने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के फैसले पर सवाल किए थे. इसके साथ ही चीन ने कहा था कि इससे क्षेत्रीय अखंडता पर असर पड़ सकता है. दरअसल, चीन को यह चिंता सता रही थी कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले से भारत-चीन की सीमा पर असर पड़ सकता है, लेकिन विदेश मंत्री ने साफ कर दिया है कि भारत के फैसले से अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर कुछ असर नहीं होगा.