गायक कुमार सानू को गाना गाने के लिए पिता से पड़ी थी मार
कुमार सानू (Photo Credits: Instagram)

मुंबई:  गायक कुमार सानू (Kumar Sanu) ने कहा है कि जब उन्होंने पहली बार रेलवे ट्रैक पर परफॉर्म किया था और वह भी एक 'माफिया गैंग' के सामने, तो उनके पिता को यह बात बिल्कुल पसंद नहीं आई थी. कुमार सानू ने इसका जिक्र कॉमेडियन कपिल शर्मा (Kapil Sharma) के शो में किया है. उन्होंने कहा, "मेरा डेब्यू परफॉर्मेन्स रेलवे ट्रैक पर था जहां एक माफिया गैंग के सामने मुझे कुछ हिंदी गानों को गाने के लिए कहा गया था और उस वक्त वहां करीब 20,000 लोग मौजूद थे."

कुमार सानू ने आगे कहा, "मैं डर-डर के गाया और नाचा भी, खुशकिस्मती से उन्होंने इसे पसंद भी किया, लेकिन मेरे पिता, जो कि एक रूढ़िवादी पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखते हैं, को जब इस बारे में पता चला, तो उन्होंने मुझे एक जोर का तमाचा मारा और कहा कि यह गाने का कोई तरीका नहीं है."

यह भी पढ़ें: ‘इंडियन आइडल 10’ में सजेगी कुमार सानु के गीतों की महफिल

कुमार सानू बॉलीवुड में 25 साल से ज्यादा समय बिता चुके हैं और इस दौरान उन्होंने 'एक लड़की को देखा', 'जादू है तेरा ही जादू', 'सांसों की जरूरत है जैसे' और 'जब कोई बात बिगड़ जाए' जैसे कई हिट गाने दे चुके हैं जिन्हें लोग आज भी गुनगुनाना पसंद करते हैं. वह गीतकार समीर के साथ सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन शो के आगामी एपिसोड में दिखाई देंगे.