Close
Search

COVID-19: उपस्वरूप जेएन.1 के 12 राज्यों में चार जनवरी तक 619 मामले दर्ज

कोविड-19 के नए उपस्वरूप जेएन -1 से संक्रमित होने के मामले 12 राज्यों में चार जनवरी तक बढ़कर 619 हो गए। अधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

एजेंसी न्यूज Bhasha|
COVID-19: उपस्वरूप जेएन.1 के 12 राज्यों में चार जनवरी तक 619 मामले दर्ज
(Photo : X)

नयी दिल्ली, 5 जनवरी: कोविड-19 के नए उपस्वरूप जेएन -1 से संक्रमित होने के मामले 12 राज्यों में चार जनवरी तक बढ़कर 619 हो गए. अधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया गया कि इनमें से 199 मामले कर्नाटक में दर्ज किए गए, जबकि केरल में 148 , महाराष्ट्र में 110, गोवा में 47 , गुजरात में 30, आंध्र प्रदेश में 30, तमिलनाडु में 26, दिल्ली में 15, राजिस्थान में चार जबकि तेलंगाना, ओडिशा और हरियाणा में एक-एक मामले दर्ज किये गये हैं.

अधिकारियों ने कहा कि संक्रमित होने के मामले बढ़ रहे हैं और देश में जेएन.1 उपस्वरूप का पता चला है, लेकिन अभी चिंता की कोई बात नही है क्योंकि संक्रमित लोगों में से अधिकांश व्यक्ति घरेलू उपचार का विकल्प अपना रहे हैं जो मामूली रूप से बीमार होने का संकेत है. केंद्र ने पहले ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को देश में कोविड-19 के नये मामलों की संख्या में वृद्धि और जेएन.1 उपस्वरूप का पता चलने के मद्देनजर नि

  • Disha Patani ने पहनी इतनी बोल्ड ड्रेस की लाइव इवेंट में फटी रह गई फैंस की आंखें, देखें लेटेस्ट Hot Photos
  • 83 रिलीज से पहले सिद्धिविनायक मंदिर पहुंचीं Deepika Padukone, गणपति के दर्शन कर लिया आशीर्वाद
  • Close
    Search

    COVID-19: उपस्वरूप जेएन.1 के 12 राज्यों में चार जनवरी तक 619 मामले दर्ज

    कोविड-19 के नए उपस्वरूप जेएन -1 से संक्रमित होने के मामले 12 राज्यों में चार जनवरी तक बढ़कर 619 हो गए। अधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

    एजेंसी न्यूज Bhasha|
    COVID-19: उपस्वरूप जेएन.1 के 12 राज्यों में चार जनवरी तक 619 मामले दर्ज
    (Photo : X)

    नयी दिल्ली, 5 जनवरी: कोविड-19 के नए उपस्वरूप जेएन -1 से संक्रमित होने के मामले 12 राज्यों में चार जनवरी तक बढ़कर 619 हो गए. अधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया गया कि इनमें से 199 मामले कर्नाटक में दर्ज किए गए, जबकि केरल में 148 , महाराष्ट्र में 110, गोवा में 47 , गुजरात में 30, आंध्र प्रदेश में 30, तमिलनाडु में 26, दिल्ली में 15, राजिस्थान में चार जबकि तेलंगाना, ओडिशा और हरियाणा में एक-एक मामले दर्ज किये गये हैं.

    अधिकारियों ने कहा कि संक्रमित होने के मामले बढ़ रहे हैं और देश में जेएन.1 उपस्वरूप का पता चला है, लेकिन अभी चिंता की कोई बात नही है क्योंकि संक्रमित लोगों में से अधिकांश व्यक्ति घरेलू उपचार का विकल्प अपना रहे हैं जो मामूली रूप से बीमार होने का संकेत है. केंद्र ने पहले ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को देश में कोविड-19 के नये मामलों की संख्या में वृद्धि और जेएन.1 उपस्वरूप का पता चलने के मद्देनजर निरंतर निगरानी बनाए रखने के लिए कहा है.

    राज्यों को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से साझा किये गये विस्तृत दिशा-निर्देशों का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. ये दिशा-निर्देश कोविड-19 के लिए संशोधित निगरानी रणनीति को लेकर जारी किये गये हैं. राज्यों से कहा गया है कि वे मामलों की बढ़ती प्रवृत्ति का जल्द पता लगाने के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों में इन्फ्लूएंजा और गंभीर श्वसन जैसी बीमारी से पीड़ित होने के के मामलों की नियमित रूप से निगरानी करें और जिला वार रिपोर्ट भेजें. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने तेजी से बढ़ते प्रसार को देखते हुए जेएन.1 को ‘अध्ययन के एक अलग प्रकार’ के रूप में वर्गीकृत किया है, लेकिन कहा है कि इससे वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य को कम खतरा है.

    (यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)

    Bhasha|
    COVID-19: उपस्वरूप जेएन.1 के 12 राज्यों में चार जनवरी तक 619 मामले दर्ज
    (Photo : X)

    नयी दिल्ली, 5 जनवरी: कोविड-19 के नए उपस्वरूप जेएन -1 से संक्रमित होने के मामले 12 राज्यों में चार जनवरी तक बढ़कर 619 हो गए. अधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया गया कि इनमें से 199 मामले कर्नाटक में दर्ज किए गए, जबकि केरल में 148 , महाराष्ट्र में 110, गोवा में 47 , गुजरात में 30, आंध्र प्रदेश में 30, तमिलनाडु में 26, दिल्ली में 15, राजिस्थान में चार जबकि तेलंगाना, ओडिशा और हरियाणा में एक-एक मामले दर्ज किये गये हैं.

    अधिकारियों ने कहा कि संक्रमित होने के मामले बढ़ रहे हैं और देश में जेएन.1 उपस्वरूप का पता चला है, लेकिन अभी चिंता की कोई बात नही है क्योंकि संक्रमित लोगों में से अधिकांश व्यक्ति घरेलू उपचार का विकल्प अपना रहे हैं जो मामूली रूप से बीमार होने का संकेत है. केंद्र ने पहले ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को देश में कोविड-19 के नये मामलों की संख्या में वृद्धि और जेएन.1 उपस्वरूप का पता चलने के मद्देनजर निरंतर निगरानी बनाए रखने के लिए कहा है.

    राज्यों को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से साझा किये गये विस्तृत दिशा-निर्देशों का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. ये दिशा-निर्देश कोविड-19 के लिए संशोधित निगरानी रणनीति को लेकर जारी किये गये हैं. राज्यों से कहा गया है कि वे मामलों की बढ़ती प्रवृत्ति का जल्द पता लगाने के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों में इन्फ्लूएंजा और गंभीर श्वसन जैसी बीमारी से पीड़ित होने के के मामलों की नियमित रूप से निगरानी करें और जिला वार रिपोर्ट भेजें. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने तेजी से बढ़ते प्रसार को देखते हुए जेएन.1 को ‘अध्ययन के एक अलग प्रकार’ के रूप में वर्गीकृत किया है, लेकिन कहा है कि इससे वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य को कम खतरा है.

    (यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)

    K/++urreruNwzct/viGRA8k924XzjKm4B8+P/2EsB/3Lqe/aY2rf6YDYO9+NIAGSi9/OmrUoxAIOwUu0IH4K6AB+Xe98FmwEQLEIAR1dMAO+u+DjAhhAwkQgBa68IUwjOGuYvgjSCUQhYlQ4QqNxUPbYYlgWyIVDslnAAxikIdIVN7q0DXEHLrOiEdMYg9tB0QsTaqJhxATFP8daD4pMmlmPmwZyv6HRT3gaYtcHKAXwUjFLP2pjFl8Ihq76EWRtZFY0oIj+eSIRjXWkYqqqpoe96jDNNZxWBADpPUSNcj6yYiBfTyiH/8IPCd9qZFO1KAmN3lJTHryk6AMpShHScpSmvKUqEylKlfJyla68pWwjKUsZ0nLWtrylrjMpS53ycte+vKXwAymMIdJzGIa85jITKYyl8nMZjrzmdCMpjSnSc1qWvOa2MymNrfJzW5685vgDKc4x0nOcprznOhMpzrXyc52uvOd8IynPOdJz3ra8574zKc+98nPfvrznwANqEAHStCCGvSgCE2oQhfK0IY69KEQjahEJ0qH0Ypa9KIYzahGN8rRjnr0oyANqUhHStKSmvSkKE2pSlfK0pa69KUwjalMZ0rTmtr0pjjNqU53ytOe+vSnQA2qUIdK1KIa9ahITapSl8rUpjr1qVCNqlSnStWqWvWqWM2qVrfK1a569atgDatYx0rWspr1rGhNq1rXyta2uvWtcI2rXOeKwwQAADs=" alt="Kusum Ka Biyaah Review: 'कुसुम का बियाह' एक प्रेम कहानी से परे देती है सामाजिक संदेश, लॉकडाउन में फंसी शादी!">
    बॉलीवुड

    Kusum Ka Biyaah Review: 'कुसुम का बियाह' एक प्रेम कहानी से परे देती है सामाजिक संदेश, लॉकडाउन में फंसी शादी!

    शहर पेट्रोल डीज़ल
    New Delhi 96.72 89.62
    Kolkata 106.03 92.76
    Mumbai 106.31 94.27
    Chennai 102.74 94.33
    View all
    Currency Price Change
    Google News Telegram Bot

    टेक

    ऑटो

    वायरल

    फोटो गैलरी

    वीडियो