Uttarakhand: घायल महिला के लिए देवदूत बने ITBP के जवान, स्ट्रेचर  पर लेकर 40 किलो मीटर पैदल चलकर पहुंचाया अस्पताल- देखें वीडियो
घायल महिला (Photo Credits ANI)

देहरादून: कोरोना महामारी के बीच उत्तराखंड में कई दिन से हो रहे भारी बारिश से लोग काफी परेशान हैं. इस बीच किसी की तबियत खराब हो जाये तो सड़के पानी की वजह से टूट जाने की वजह से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. कुछ इसी तरह से उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में दूरदराज के गांव लपसा में एक महिला घायल हो गई. जिस महिला को अस्पताल लेने जाने को लेकर परिवार वाले परेशान थे. किस अस्पताल उसे कैसे पहुंचाया जाए. ऐसे में भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस आईटीबीपी के जवान देवदूत बनकर पहुंचे.  ITBP के जवानों ने महिला को   एक स्ट्रेचर पर लेकर पथरीली उबड़ खाबड़ रास्ते से होते हुए अस्पताल पहुंचाया. जिसका न्यूज एजेंसी एएनआई की तरफ से एक वीडियो ट्वीटर पर शेयर किया गया है.

न्यूज एजेंसी एएनआई द्वारा शेयर किया गया यह वीडियो उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के दूरदराज गांव लपसा का है. यहां एक महिला घायल हो गई थी, जिसके इलाज के लिए आईटीबीपी के जवानों ने मुनस्यारी तक का सफर पैदल चलकर पूरा किया. रास्ते में पहाड़, उफनाई नदी और नाले के अलावा भूस्खलन वाले क्षेत्र भी पड़े. लेकिन आईटीबीपी के जवानों ने महिला को एक स्ट्रेचर पर लेकर 40 किलो मीटर का सफर 15 घंटे में पैदल चलकर उसे अस्पताल पहुंचाया. यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़: गर्भवती महिला के लिए CRPF के जवान ‘बने मसीहा’, कंधे पर लादकर 6 किलोमीटर चलकर अस्पताल पहुंचाने में की मदद

देखें वीडियो:

बात दें कि उत्तराखंड में हो रही भारी बारिश की वजह से राज्य की सड़कों खराब हो गई है. इस बीच कई जिलों में भूस्खलन से रास्ते भी बंद हो गए हैं. ऐसे में यदि किसी की तबियत खराब हो जाती है तो मरीज को अस्पताल पहुंचाने में काफी दिक्कत हो रही है. उत्तराखंड में हो रही बारिश को लेकर लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता हरिओम शर्मा ने बताया कि राज्य में लोनिवि की 104 जबकि पीएमजीएसवाई की 106 सड़कें बंद चल रही हैं और इन्हें खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं.