हैदराबाद में मरीज की किडनी से निकाली गईं 206 पथरियां
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: Pixabay)

हैदराबाद के अवेयर ग्लेनीगल्स ग्लोबल अस्पताल में एक दुर्लभ मामला सामने आया. यहां भर्ती एक मरीज के गुर्दे से 206 पथरियां निकाली गईं. ज्यादा पथरियों के कारण 56 वर्षीय रोगी को छह महीने से अधिक समय तक बाईं कमर में तेज दर्द होता रहा, जो गर्मियों में बढ़ते तापमान के कारण बढ़ गया. Shocking! तेलंगाना में 12 साल की बच्ची की 35 साल के शख्स से जबरन करवाई गई शादी.

नलगोंडा के रहने वाले वीरमल्ला रामलक्ष्मैया ने 22 अप्रैल को अवेयर ग्लेनीगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल में डॉक्टरों से संपर्क किया था. वह एक स्थानीय स्वास्थ्य चिकित्सक द्वारा सुझाई गई कुछ दवाओं के तहत था, जो केवल अल्पकालिक राहत प्रदान करती थी. लेकिन दर्द उसकी दिनचर्या को प्रभावित करता रहा और वह अपने कार्यो को कुशलतापूर्वक करने में असमर्थ रहा.

अवेयर ग्लेनेगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल के सीनियर कंसल्टेंट यूरोलॉजिस्ट डॉ. पूला नवीन कुमार ने कहा कि शुरुआती जांच और अल्ट्रासाउंड स्कैन में कई लेफ्ट रीनल कैलकुली (बाईं तरफ किडनी स्टोन) की मौजूदगी का पता चला है और सीटी केयूबी स्कैन से इसकी पुष्टि हुई है.

उन्होंने कहा, "मरीज को परामर्श दिया गया और एक घंटे तक चलने वाली एक कीहोल सर्जरी के लिए तैयार किया गया, जिसके दौरान सभी कैलकुली हटा दिए गए - संख्या में 206. प्रक्रिया के बाद रोगी अच्छी तरह से ठीक हो गया और दूसरे दिन अस्पताल से छुट्टी दे दी गई."

प्रक्रिया को सफलतापूर्वक संचालित करने में डॉ. नवीन कुमार को डॉ. वेणु मन्ने, सलाहकार यूरोलॉजिस्ट, डॉ. मोहन, एनेस्थिसियोलॉजिस्ट, और नर्सिग और सपोर्ट स्टाफ के अन्य सदस्यों का योगदान रहा.

गर्मियों में अत्यधिक उच्च तापमान के कारण बहुत से लोग शरीर में पानी की कमी से पीड़ित रहते हैं. इससे किडनी में स्टोन बनने की समस्या हो सकती है. डॉक्टर लोगों को हाइड्रेटेड रहने के लिए अधिक पानी और यदि संभव हो तो नारियल पानी का सेवन करने की सलाह देते हैं. यह भी महत्वपूर्ण है कि लोग तेज धूप में यात्रा करने से बचें या कम यात्रा करें और सोडा-आधारित पेय का सेवन न करें, क्योंकि वे निर्जलीकरण को बढ़ाते हैं.