देश की खबरें | द्रमुक पर वंशवाद की राजनीति के आरोपों के लिए स्टालिन ने की शाह की आलोचना
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

चेन्नई, 22 नवंबर द्रमुक मुनेत्र कषगम (द्रमुक) प्रमुख एम के स्टालिन ने पार्टी पर टू जी स्पेक्ट्रम घोटाले और वंशवाद की राजनीति का आरोप लगाने के लिए केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की रविवार को आलोचना की और कहा कि यह राज्य में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मनोरंजन करने और भरमाने के तरीके हैं।

स्टालिन ने गृह मंत्री को ‘‘दिल्ली का चाणक्य’’ करार दिया और कहा कि ये आरोप इस लिए हास्यास्पद हैं क्योंकि शाह के बगल में खड़े रहने वाले ‘‘जुड़वां’’ मुख्यमंत्री के पलानिस्वामी और उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम पिछले चार वर्षों से ‘‘भ्रष्टाचार में लिप्त” हैं।

यह भी पढ़े | Maharashtra: महाराष्ट्र में क्या फिर होगा लॉकडाउन? जानें CM उद्धव ठाकरे ने क्या कहा.

उन्होंने कहा, ‘‘ वे जितना चाहे लुभाने के तरीके आज़मा लें लेकिन जनता सब जानती है।’’

उन्होंने कहा इस प्रकार के आरोप लगाने के लिए अन्नाद्रमुक और भाजपा को अगले वर्ष अप्रैल-मई में होने वाले चुनाव में जवाब मिल जाएगा।

यह भी पढ़े | Manoj Jha on Ghulam Nabi Azad’s Statement: कांग्रेस में घमासान को लेकर बयानबाजी जारी, गुलाम नबी आजाद के बयान पर आरजेडी नेता मनोज झा बोले-एक प्लेटफॉर्म बनाइए और बात कीजिए.

अन्नाद्रमुक ने शनिवार को कहा था कि भाजपा के साथ उसका गठबंधन अगले विधानसभा चुनाव में भी जारी रहेगा।

स्टालिन ने कहा कि द्रमुक को सत्ता में वापस लाने तक वह रुकेंगे नहीं, और चुनाव प्रचार जनवरी से शुरू करेंगे।

गौरतलब है कि शाह ने शनिवार को द्रमुक पर भ्रष्टाचार और वंशवाद की राजनीति करने का आरोप लगाया और दावा किया कि उसे राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ेगा, जहां ‘‘लोकतांत्रिक ताकतें’’ प्रबल होंगी।

द्रमुक और उसकी सहयोगी पार्टी कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए शाह ने कहा कि दोनों दलों को भ्रष्टाचार के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)