जरुरी जानकारी | स्नैपडील, ओटोनॉमी आईओ ने किया रोबोट से डिलिवरी का परीक्षण

नयी दिल्ली, 15 सितंबर अमेजन और वालमार्ट जैसी ई-वाणिज्य कंपनियां जब डिलिवरी के लिए ड्रोन का विकल्प आजमा रही हैं तब घरेलू ई-वाणिज्य कंपनी स्नैपडील ने रोबोट के माध्यम से डिलिवरी का परीक्षण शुरू किया है, ताकि ग्राहकों को उनके घर तक संपर्क रहित डिलिवरी सुनिश्चित की जा सके।

स्नैपडील ने एक बयान में कहा कि इसके लिए उसने स्टार्टअप कंपनी ‘ऑटोनॉमी आईओ’ के साथ गठजोड़ किया है। दोनों ने मिलकर दिल्ली-एनसीआर के कुछ चुनींदा स्थानों पर रोबोट के माध्यम से डिलिवरी का सफल परीक्षण किया है।

यह भी पढ़े | Banking Regulation (Amendment) Bill 2020: अब कोऑपरेटिव बैंकों पर भी होगी RBI की कड़ी नजर, नहीं डूबेगा आपका पैसा.

बयान के मुताबिक डिलिवरी करने वाले रोबोट को सोसायटी के गेट पर रखा गया। जहां डिलिवरी एजेंट क्यूआर कोड स्कैन करता है और पैकेट को रोबोट के अंदर रख देता है। रोबोट के पास सोसायटी का मानचित्र होता है और वह उसके सहारे ग्राहक तक सामान की डिलिवरी कर देता है।

बयान के मुताबिक ऑटोनॉमी आईओ ने अंतिम छोर तक डिलिवरी देने के लिए इन रोबोट को विकसित किया है। यह सड़क पर फुटपाथ पर खुद से चल सकते हैं। इनमें भीड़-भाड़ वाले इलाकों में सही से चलने के लिए विशेष कृत्रिम मेधा को विकसित किया गया है। साथ ही यह मशीन लर्निग का भी उपयोग करते हैं। इनमें कैमरा है जो उन्हें बाहरी दुनिया को समझने में मदद करता है।

यह भी पढ़े | 7th Pay Commission: इन सरकारी कर्मचारियों को मिली बड़ी सौगात, सैलरी में होगी 44% तक की बढ़ोतरी.

हाल में वालमार्ट ने अमेरिका में ड्रोन से उत्पादों की डिलिवरी करने के लिए जिपलाइन और फ्लाईट्रेक्स के साथ साझेदारी की घोषणा की थी। अमेजन की भी डिलिवरी करने के लिए ड्रोन के उपयोग की योजना है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)