खेल की खबरें | सिंधू और प्रणीत इंडोनेशिया ओपन के क्वार्टरफाइनल में, श्रीकांत हारे

बाली, 25 नवंबर शीर्ष भारतीय शटलर पीवी सिंधू और बी साई प्रणीत ने गुरूवार को यहां इंडोनेशिया ओपन सुपर 1000 बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया लेकिन पूर्व चैम्पियन किदाम्बी श्रीकांत दूसरे दौर में हारकर बाहर हो गये।

दो बार की ओलंपिक पदक विजेता सिंधू को महिला एकल के दूसरे दौर के मैच में जर्मनी की युवोने लि पर जीत दर्ज करने में जरा भी पसीना नहीं बहाना पड़ा।

मौजूदा विश्व चैम्पियन और तीसरी वरीयता प्राप्त सिंधू ने 850,000 डॉलर की पुरस्कार राशि के टूर्नामेंट में दुनिया की 26वें नंबर की खिलाड़ी को 37 मिनट में 21-12 21-18 से शिकस्त दी।

सिंधू का सामना अब क्वार्टरफाइनल में दक्षिण कोरिया की सिम युजिन से होगा।

प्रणीत ने फ्रांस के क्रिस्टो पोपोव (70वीं रैंकिंग) की चुनौती एक घंटे 23 मिनट तक चले मुकाबले में 21-17 14-21 21-19 से समाप्त की।

दुनिया के 16वें नंबर के भारतीय खिलाड़ी का सामना अब ओलंपिक चैम्पियन और पूर्व नंबर एक डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन से होगा।

दूसरे वरीय एक्सेलसेन ने श्रीकांत को 37 मिनट में 21-14 21-18 से शिकस्त दी।

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की छठी वरीयता प्राप्त पुरूष जोड़ी ने कोरियाई जोड़ी पर रोमांचक मुकाबले में जीत दर्ज की। उन्होंने कांग मिन्हयुक और सियो सेयुंगजाय पर 21-15 19-21 23-21 से जीत दर्ज कर अंतिम आठ में प्रवेश किया।

भारतीय जोड़ी (11वीं रैंकिंग) का सामना अब मलेशिया के गोह जे फेई और नूर इजुद्दीन की जोड़ी से होगा।

लि के खिलाफ पहली बार खेल रहीं दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधू शुरू से पूरी तरह से नियंत्रण में दिखीं।

सिंधू का दबदबा इस तरह का था कि दो बार की इस ओलंपिक पदक विजेता ने पहला गेम आसानी से अपने नाम कर लिया जिसमें उन्होंने लगातार सात अंक जुटाये।

दूसरे गेम में हालांकि लि ने अच्छी वापसी की कोशिश की जिससे यह गेम बराबर की टक्कर वाला रहा। लेकिन सिंधू ने जर्मनी की खिलाड़ी को फायदा नहीं उठाने दिया और मैच जीत लिया।

प्रणीत ने अच्छी शुरूआत करते हुए 8-2 से बढ़त बना ली। लेकिन पोपोव ने लगातार सात अंक जुटाकर ब्रेक के बाद इसे 14-12 कर दिया। पर भारतीय खिलाड़ी ने संयम बरतते हुए पहला गेम अपने नाम किया।

दूसरा गेम बराबरी का रहा जिसमें वह ब्रेक तक 11-10 की बढ़त बनाने के बाद 15-14 तक पहुंच गये। पर लगातार छह अंक गंवाकर दूसरे गेम में हार गये।

निर्णायक गेम में प्रणीत 11-7 से आगे थे, पर पोपोव ने सात अंक जुटाकर बढ़त बना ली। पर प्रणीत ने हार नहीं मानी और अंत में मैच जीत लिया।

दूसरे दौर के एक अन्य मैच में एक्सेलसेन ने कोर्ट का बखूबी इस्तेमाल कर श्रीकांत को काफी दौड़ाया। उन्होंने भारतीय खिलाड़ी की गलती का इंतजार किया और कुछ बेहतरीन कोण लेते रिटर्न से उन्हें परेशान किया। इस तरह उन्होंने 37 मिनट में श्रीकांत को हरा दिया।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)