Happy Bhogi 2021 Messages and HD Images: इन  WhatsApp Stickers, GIF Images, Wallpapers के जरिए अपने प्रियजनों दें भोगी की शुभकामनाएं
भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं, (Photo Credits: File Photo)

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बुधवार (13 जनवरी) को धूम-धाम से भोगी त्योहार मनाया जा रहा है. भोगी आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में संक्रांति त्योहार का पहला दिन होता है. इस दिन घर से सभी पुरानी, बिना काम की और नकारात्मक चीजें निकालकर आग में जला दी जाती हैं और अग्नि देवता से सुख और समृद्धि की कामना की जाती है. आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भोगी उत्सव की रौनक है. सुबह से ही लोग घरों के बाहर इकट्ठा होकर उत्साह के साथ त्यौहार मना रहे हैं. तेलगु और तमिल दोनों भाषी भोगी मनाते हैं. इस दिन प्रमुख मुग्गुलु प्रकार की रंगोली बनाई जाती है और भोगी पल्लू अनुष्ठान किया जाता है.

दक्षिण भारत के लोगों के लिए भोगी का त्योहार बहुत ही महत्वूर्ण होता है. भोगी को लोकप्रिय रूप से भोगी पोंगल कहा जाता है. इस दिन लोग नए कपड़े पहनते हैं और प्रवेश द्वार को रंगोली और कोलम से सजाते हैं. Happy Lohri 2021 Images & Wallpapers: हैप्पी लोहड़ी! इन मनमोहक WhatsApp Stickers, GIFs, Facebook Wishes, HD Photos के जरिए दें सबको बधाई.

लोग इस शुभ दिन पर अपने प्रियजनों को भोगी शुभकामनाएं और संदेश भेजते हैं. अगर आप भी इस शुभ दिन पर शुभकामनाएं सन्देश भेजना चाहते हैं तो नीचे दिए गए Greetings, WhatsApp Stickers, HD Images, Messages, GIFs, SMS, Quotes और Status भेजकर बधाइयां दे सकते हैं.

हमारी ओर से आपको एवं आपके परिवार को

भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं!

भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं, (फोट क्रेडिट्स : फाइल फोटो )

भोगी के त्योहार की हार्दिक बधाई!

भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं, (फोट क्रेडिट्स : फाइल फोटो )

इस साल भोगी का त्योहार आपके लिए

ढेर सारी खुशियां ले आए

हैप्पी भोगी!

हैप्पी भोगी, (फोट क्रेडिट्स : फाइल फोटो )

भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं!

भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं, (फोट क्रेडिट्स : फाइल फोटो )

भोगी धनुरासम (Dhanurmasam) यानी गोदा देवी के विवाह का आखिरी दिन है, इनका विवाह तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर और अन्य विष्णु मंदिरों में मनाया जाता है. मान्यता है कि जो लोग इस पवित्र विवाह में शामिल होते हैं, उनकी शादी जल्दी होती है. श्री रंगनाथ के साथ गोदा देवी के दिव्य विवाह के साक्षी होने से शांति और सुखी वैवाहिक जीवन जीने में मदद मिलती है. इसलिए कई जोड़े गोदा देवी के विवाह में भाग लेते हैं. ऐसा माना जाता है कि गोदा देवी भोगी के दिन श्री रंगनाथ के साथ विलीन हो गई.