विदेश की खबरें | संरा सुरक्षा परिषद की कार्यप्रणाली में 21वीं सदी की वास्तविकताएं प्रतिबिंबित होनी चाहिए: बोजकिर

संयुक्त राष्ट्र, 16 सितंबर संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के नए अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर ने कहा है कि संरा सुरक्षा परिषद की सदस्यता और इसकी कार्यप्रणाली 21वीं सदी की वास्तविकताओं को दर्शाती हुई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि 15 सदस्यीय निकाय में सुधार संयुक्त राष्ट्र के लिए बहुत अहम हैं।

बोजकिर ने संवाददाताओं से कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार बहुत जरूरी हैं, न केवल सदस्य राष्ट्रों के लिए बल्कि संपूर्ण संयुक्त राष्ट्र के लिए भी।

यह भी पढ़े | COVID-19 Vaccine Update: कोरोना वैक्सीन को लेकर चीन-UAE से आई अच्छी खबर, तीसरे चरण के ट्रायल में दिखे सकारात्मक परिणाम.

उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित ही, यह एक जटिल चुनौती है जो संगठन के मुख्य स्तंभों में से एक-शांति एवं सुरक्षा- से करीब से जुड़ी हुई है।’’

बोजकिर ने कहा, ‘‘इसमें कोई संदेह नहीं है कि सुरक्षा परिषद की सदस्यता एवं इसकी कार्यप्रणाली 21वीं सदी की वास्तविकताओं का प्रतिबिंब करती हुई होनी चाहिए। यह एक अंत: सरकारी प्रक्रिया है, जिसका मतलब है कि यह सदस्य राष्ट्रों द्वारा संचालित होगी।’’

यह भी पढ़े | चीन-पाकिस्तान की बढ़ेगी टेंशन, भारत और अमेरिका के बीच रक्षा शिष्‍टमण्‍डलों की होगी बैठक.

भारत संरा सुरक्षा परिषद में गैर स्थायी सदस्य चुना गया है और उसका दो वर्ष का कार्यकाल एक जनवरी 2021 से शुरू होगा।

सुरक्षा परिषद में सुधार के वर्षों से चले आ रहे प्रयासों में भारत अग्रणी भूमिका में रहा है। उसने कहा है कि परिषद में स्थायी सदस्य होने की वह पात्रता रखता है। भारत ने यह भी कहा कि परिषद का वर्तमान स्वरूप 21वीं सदी की भू-राजनीतिक वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित नहीं करता है।

महासभा के सत्र के आरंभ में अपने संबोधन में बोजकिर ने अपनी प्राथमिकताओं को रेखांकित करते हुए कहा, ‘‘हमारे एजेंडा के महत्वपूर्ण मुद्दों मसलन हथियार पाबंदी से लेकर मानवाधिकार और जलवायु से लेकर टिकाऊ विकास तक, मैं सर्वसम्मति बनाने के हरसंभव प्रयास करूंगा।’’

बोजकिर ने संरा के सदस्य राष्ट्रों के प्रतिनिधियों से कहा, ‘‘मेरे अध्यक्षता काल में कोरोना वायरस के प्रभावों से लड़ना मेरी प्राथमिकता होगी।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)