देश की खबरें | शिवशंकर को तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल स्थानांतरित किया गया
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

तिरुवनंतपुरम, 17 अक्टूबर सोना तस्करी मामले में जांच का सामना कर रहे निलंबित आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर को शनिवार को तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। पहले वह एक निजी अस्पताल में भर्ती थे।

केरल के मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव को शुक्रवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सीमा शुल्क विभाग की तरफ से उन्हें शाम छह बजे से पहले पेश होने के लिये नोटिस जारी किया गया था जिसके बाद उन्होंने बेचैनी की शिकायत की थी, जिस पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

यह भी पढ़े | महाराष्ट्र में दशहरे से खुलेंगे जिम और फिटनेस सेंटर: 17 अक्टूबर 2020 की बड़ी खबरें और मुख्य समाचार LIVE.

उन्हें पहले पीआरएस अस्पताल ले जाया गया था। अस्पताल ने एक चिकित्सा बुलेटिन में दिल के दौरे के आशंका से इनकार किया लेकिन रीढ़ के एमआरआई में रीढ़ और ग्रीवा क्षेत्र में कुछ समस्या की बात सामने आई थी।

उनका एंजियोग्राम सामान्य था।

यह भी पढ़े | Ravi Shankar Prasad Safe After Helicopter Blades Break: केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का हेलिकॉप्टर पटना एयरपोर्ट पर हुआ हादसे का शिकार, बाल-बाल बचे.

बुलेटिन में कहा गया कि उनकी पीठ में दर्द रीढ़ की हड्डी में समस्या की वजह से है और उन्हें चिकित्सकों से एक बार फिर परामर्श लेने की सलाह दी गई है।

निलंबित आईएएस अधिकारी को जब मेडिकल कॉलेज अस्पताल स्थानांतरित किया जा रहा था तो कुछ अस्पताल कर्मियों ने कथित तौर पर टीवी पत्रकारों को उनकी तस्वीरें लेने से रोकने की कोशिश की।

मीडिया कर्मियों ने आरोप लगाया कि उनके कुछ सहकर्मियों पर अस्पताल के एक कर्मचारी द्वारा हमला किया गया।

केरल के श्रमजीवी पत्रकार संघ (केयूडब्ल्यूजे) ने सुरक्षा गार्ड की कार्रवाई की आलोचना की जिसने कथित तौर पर वीडियो पत्रकारों पर हमला किया।

केयूडब्ल्यूजे ने एक बयान में कहा कि बिना किसी उकसावे के सुरक्षाकर्मी ने टीवी कैमरा पत्रकारों पर हमला किया जो अपना काम कर रहे थे।

संघ ने कहा कि इस घटना में तीन कैमरों को नुकसान पहुंचा है । संघ ने मुआवजे की भी मांग की।

सुरक्षा कर्मी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)