देश की खबरें | उपग्रह भेदी मिसाइल ए-सैट की याद में डाक टिकट जारी किया गया
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

नयी दिल्ली, 15 सितंबर देश की पहली उपग्रह भेदी मिसाइल ए-सैट के सफल परीक्षण की याद में मंगलवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल की उपस्थिति में एक डाक टिकट जारी किया गया।

रक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

यह भी पढ़े | केंद्र सरकार ने कहा, लॉकडाउन में Fake News के कारण प्रवासी श्रमिकों ने किया पलायन.

मंत्रालय की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार समारोह में दिए अपने संबोधन में डोभाल ने कहा कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के नाम गर्व करने लायक कई उपलब्धियां दर्ज हैं लेकिन भविष्य अंतरिक्ष आधारित प्रौद्योगिकी पर निर्भर है।

डीआरडीओ ने पिछले साल 27 मार्च को ए-सैट का पहला सफल परीक्षण किया था।

यह भी पढ़े | Congress Attacks On Modi Govt: कोरोंना महामारी के लिए घोषित आर्थिक राहत पैकेज को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार से पूछा सवाल, कहा- अब तक 1 लाख करोड़ रुपये खर्च नहीं हुए.

वक्तव्य में कहा गया कि ए-सैट मिसाइल को ओडिशा स्थित डॉ एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से छोड़ा गया था और उसने एक भारतीय उपग्रह को सफलतापूर्वक मार गिराया था।

वक्तव्य के अनुसार, “डाक टिकट जारी होने से राष्ट्र इस उपलब्धि का स्मरण करेगा, जिसने देश को गौरवान्वित किया था।”

गत वर्ष 27 मार्च को किए गए परीक्षण को “मिशन शक्ति” नाम दिया गया था।

वक्तव्य के अनुसार डोभाल ने कहा कि डीआरडीओ के लिए यह साहस भरा कदम था।

डोभाल ने कहा, “गर्व का अनुभव करने के लिए डीआरडीओ के नाम कई उपलब्धियां हैं, हालांकि भविष्य अंतरिक्ष आधारित प्रौद्योगिकी पर निर्भर है।”

वक्तव्य के अनुसार डोभाल ने अभियान को गोपनीय रखने की सराहना की और डीआरडीओ की प्रशंसा की।

इस अवसर पर डीआरडीओ के अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी भी उपस्थित थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)