देश की खबरें | कोविड-19 रोधी टीके के निर्यात पर कोई प्रतिबंध नहीं : विदेश मंत्रालय

नयी दिल्ली, 8 अप्रैल विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को दोहराया कि कोविड-19 रोधी टीकों के निर्यात पर कोई प्रतिबंध नहीं है और घरेलू आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए आपूर्ति जारी रहेगी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने डिजिटल माध्यम से साप्ताहिक प्रेस वार्ता में कहा, ‘‘ हमारी घरेलू आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए ‘मेड इन इंडिया’ टीके की आपूर्ति जारी रहेगी। टीके के निर्यात पर कोई प्रतिबंध नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि टीके की आपूर्ति के बारे में हमारी वेबसाइट पर आंकड़े उपलब्ध कराये जाते हैं ।

एस्ट्राजेनेका द्वारा सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को टीके की आपूर्ति को लेकर कानूनी नोटिस भेजे जाने के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि इस बारे में संबंधित कंपनी ही जवाब दे सकती है।

पिछले सप्ताह विदेश मंत्रालय ने कहा था कि भारत ने कोरोना वायरस के खिलाफ अभियान में पड़ोसी और मित्र देशों को अभी तक कोविड-19 रोधी टीके की 644 लाख खुराकें उपलब्ध करायी हैं।

बागची ने कहा था कि भारत ने विभिन्न देशों को अनुदान के तहत कोविड-19 रोधी टीके की 104 लाख खुराकें उपलब्ध करायी हैं जबकि 357 लाख खुराकें वाणिज्यिक आपूर्ति और 182 लाख खुराकें कोवैक्स पहल के तहत उपलब्ध करायी गयी हैं।

गौरतलब है कि कोवैक्स दुनिया के देशों को टीके की आपूर्ति से संबंधित अंतरराष्ट्रीय गठबंधन है ।

एक सवाल के जवाब में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि टीके की आपूर्ति को लेकर कई देशों से मांग आ रही है और जिन पर घरेलू जरूरतों को ध्यान में रखते हुए विचार किया जा रहा है ।

दीपक

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)