देश की खबरें | छात्रा की आत्महत्या के बाद एलएसआर ने फीस कम करने की घोषणा की
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

नयी दिल्ली, 21 नवम्बर परिवार की कथित तौर पर खराब माली हालत के कारण एक छात्रा के आत्महत्या करने के बाद ‘लेडी श्रीराम कॉलेज’ (एलएसआर) ने कुछ पाठ्यक्रमों की फीस कम करने, लैपटॉप प्रदान करने के लिए एक समिति का गठन करने और द्वितीय वर्ष की कुछ छात्राओं को छात्रावासों में रहने की अनुमति देनी की घोषणा की है।

कॉलेज ने एक आधिकारिक आदेश में कहा, ‘‘ इस बात पर गौर करते हुए कि कुछ छात्राएं परिसर में नहीं होने के कारण कुछ सुविधाओं का लाभ नहीं उठा पा रही हैं, कॉलेज ने इस साल फीस में से कुछ शुल्क हटा दिए हैं। इससे फीस काफी कम हो जाएगी। इसके अलावा, किस्तों में भी फीस का भुगतान किया जा सकता है।’’

यह भी पढ़े | BJP नेता स्वतंत्र देव सिंह का कांग्रेस पर कड़ा प्रहार, कहा – अलगाववादियों का हौसला बढ़ाने के लिए गुपकार समझौते का बन गए हिस्सा.

आदेश में कहा गया, ‘‘कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण उत्पन्न हुई परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए, प्रथम वर्ष की नयी छात्राओं और तृतीय वर्ष की विद्यार्थियों को छात्रावास में जगह मुहैया कराए जाने के बाद वर्तमान द्वितीय वर्ष की छात्राओं को नए आवेदन पर और आवश्यकता के आधार पर छात्रावास में रहने की अनुमति दी जाएगी। ’’

कॉलेज प्रशासन ने यह भी निर्णय लिया है कि महामारी का प्रकोप कम होने पर छात्रावास सीटों को बढ़ाकर एक बार फिर 288 कर दिया जाएगा और जरूरत के आधार पर, द्वितीय और तृतीय वर्ष की कुछ और छात्राओं को छात्रावासों में जगह मुहैया कराई जाएगी।

यह भी पढ़े | Tamil Nadu Assembly Election 2021: मिशन तमिलनाडु के तहत चेन्नई पहुंचे गृहमंत्री अमित शाह, कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार स्वागत- देखें विडियो.

कॉलेज ने कहा, ‘‘ यह सुनिश्चित करने के लिए एक समिति का गठन किया गया है कि जरूरतमंद छात्राओं को उपकरण मुहैया कराए जाएं और इस संबंध में प्रत्येक विभाग जरूरतमंद छात्राओं के नाम तथा उनके पते की सूची तैयार कर रहा है। कॉलेज समिति यह सुनिश्चित करेगी कि जल्द से जल्द इन्हें (उपकरणों को) खरीद कर जरूरतमंद छात्राओं को मुहैया कराये जाएं।’’

गौरतलब है कि परिवार की खराब माली हालत के कारण अपनी पढ़ाई को लेकर चिंतित दिल्ली के ‘लेडी श्रीराम कॉलेज’ में पढ़ रही तेलंगाना की एक छात्रा ऐश्वर्या (19) ने दो नवम्बर को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी।

कॉलेज प्रशासन का यह फैसला छात्रा की मौत के बाद छात्र संघ की मांगों के उपरांत आया है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)