देश की खबरें | हेलीकाप्टर दुर्घटना, भाजपा ने उठाया इसके रखरखाव पर सवाल

रायपुर, 13 मई छत्तीसगढ़ के मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बृहस्पतिवार को राज्य शासन के हेलीकाप्टर दुर्घटना में दो पायलटों की मौत के बाद इसके रखरखाव पर सवाल उठाया है तथा घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

राज्य की राजधानी रायपुर स्थित स्वामी विवेकानंद विमानतल में बृहस्पतिवार रात अभ्यास उड़ान के दौरान राज्य शासन के अगुस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस घटना में दो पायलटों कैप्टन एपी श्रीवास्तव और कैप्टन गोपाल कृष्ण पंडा की मृत्यु हो गई है।

हेलीकाप्टर दुर्घटना में पायलटों की मौत को लेकर विधानसभा में विपक्ष के नेता धरमलाल कौशिक ने शुक्रवार को कहा, ''कैप्टन पंडा एक अनुभवी और प्रशिक्षित पायलट थे। वह 11 साल से राज्य में सेवा दे रहे थे। फिर ऐसी घटना कैसे हुई? हेलिकॉप्टर के हर तकनीकी पहलू की गहन जांच की जरूरत है। क्या हेलिकॉप्टर में पहले से ही कोई तकनीकी खराबी थी जिसके कारण दुर्घटना हुई है?”

कौशिक ने कहा, ''यह पता लगाने के लिए एक उच्च स्तरीय जांच की जानी चाहिए कि सर्विसिंग सहित इसके रखरखाव पर उचित ध्यान दिया जा रहा था या नहीं।"

हेलीकॉप्टर के सुरक्षा मानकों के बारे में पूछे जाने पर कौशिक ने कहा, ''अगस्ता हेलीकॉप्टर को एक बेहतर हेलीकॉप्टर माना जाता है और इसका इस्तेमाल चुनाव अभियानों के दौरान भी किया जाता है। यह न केवल छत्तीसगढ़ में बल्कि देश में भी विश्वसनीय है।''

भाजपा नेता ने कहा, ''यदि कांग्रेस यह कह रही है कि इसे हमारी सरकार :वर्ष 2007: के दैरान खरीदा गया था और वह इसकी सुरक्षा मानकों पर सवाल उठा रहे हैं, तो यह हास्यास्पद है। हेलीकॉप्टर 15 साल से सेवा में था। अगर यह खराब था तो इतने लंबे समय तक कैसे काम किया? देखने की बात यह है कि इसे रखा कैसे जा रहा था। यदि आपका वाहन रखरखाव के अभाव में खराब हो जाता है तो इसके निर्माता को दोष नहीं दिया जा सकता है।"

कौशिक ने हादसे में मृत पायलट के परिजनों के लिए मुआवजे और सरकारी नौकरी की भी मांग की।

कौशिक के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा इस घटना का राजनीतिकरण नहीं करे।

शुक्ला ने कहा, ''हेलीकाप्टर दुर्घटना दुखद है इस घटना में हमारे दो जांबाज पायलटों की मौत हुई है। कांग्रेस पार्टी विनम्र श्रद्धांजलि व्यक्त करती है। कांग्रेस पार्टी ओर सरकार इन पायलटों के परिवार के साथ खड़ी है। निश्चित तौर पर जो क्षति हुई है उसकी भरपाई नहीं की जा सकती है। महत्वपूर्ण बात यह है कि नेता प्रतिपक्ष को इस दुखद घटना में राजनीति नहीं करनी चाहिए। उनके द्वारा जो सवाल उठाए गए हैं इन सवालों को उठाने का यह समय नहीं है।''

उन्होंने कहा, ''निश्चित तौर पर घटना के कारणों की जांच की जाएगी। लेकिन जब सवाल उठेगा तब सबसे बड़ा सवाल तो यह उठता है कि अगुस्ता वैस्टलैंड हेलीकाप्टर की खरीद के समय क्या इसके सुरक्षा मानकों का ध्यान रखा गया था। उस समय भी कांग्रेस पार्टी ने इस हेलीकाप्टर के सुरक्षा मानकों पर सवाल खड़ा किया था। अनेक तकनीशियनों ने भी सवाल खड़ा किया था। न कि सुरक्षा मानकों बल्कि इसकी खरीद के बाद इसके दाम और घोटाले पर भी बात हुई थी। विधानसभा की समिति ने भी जांच की थी। नेता प्रतिपक्ष कौशिक और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को इसका भी जवाब देना चाहिए।''

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि हेलीकाप्टर दुर्घटना की जांच के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत कार्य करने वाली संस्था एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो :एएआईबी: का दल रायपुर पहुंच गया है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)