देश की खबरें | केंद्रीय दल कोविड-19 मामलों में वृद्धि के मद्देनजर पहुंचा गुजरात
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

अहमदाबाद, 21 नवंबर केंद्र के एक दल ने गुजरात के कुछ शहरों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर शनिवार को यहां वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।

अहमदाबाद में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ने के मद्देनजर प्रशासन ने 20 नवंबर रात नौ बजे से लेकर 23 नवंबर सुबह छह बजे तक के लिए कर्फ्यू लगा दिया है जबकि वड़ोदरा, सूरत एवं राजकोट में कर्फ्यू रात नौ बजे से लेकर सुबह छह बजे तक अगले आदेश तक लगा रहेगा।

यह भी पढ़े | महाराष्ट्र: पुणे सिटी पुलिस की अपराध शाखा ने दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया, 9.5 लाख रुपये के 37 किलोग्राम गांजा जब्त: 21 नवंबर 2020 की बड़ी खबरें और मुख्य समाचार LIVE.

गुजरात में कोरोना वायरस के मामले शनिवार को 1,515 बढ़कर 1,95,917 हो गये।

राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के निदेशक डॉ. सुजीत कुमार की अगुवाई वाले तीन सदस्यीय केंद्रीय दल ने गांधीनगर में राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की और वह अहमदाबाद के एसवीपी अस्पताल गये जहां कोविड-19 मरीजों का उपचार चल रहा है।

यह भी पढ़े | दिल्ली: डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने पटपड़गंज में मास्क बांटे, लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन करने की अपील की.

कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि टीम अधिकारियों को विश्वास में लेकर गुजरात में महामारी की स्थिति का वास्तविक आकलन करेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमने प्रधान सचिव, स्वास्थ्य आयुक्त, निगम आयुक्त और स्वास्थ्य विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और गुजरात एवं अहमदाबाद में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा की। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ उन्होंने विस्तार से बताया कि कैसे मामले बढ़े और राज्य ने स्थिति नियंत्रण में करने के लिए क्या क्या कदम उठाये हैं। हमने इस सूचना के आधार पर राज्य की दो दिवसीय यात्रा का कार्यक्रम बनाया है।’’

कुमार ने कहा कि टीम अगले दो दिनों में स्थिति की समीक्षा के लिए वड़ोदरा जाएगी और वहां अस्पतालों का निरीक्षण करेगी।

इस बीच अहमदाबाद में कर्फ्यू के चलते आम जनजीवन ठप्प हो गया। सड़कें और बाजार सूने नजर आये। प्रशासन ने केवल दूध एवं दवाइयां खरीदने के लिए घरों से बाहर आने की इजाजत दी है ।

इस बीच गुजरात के मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल ने कहा कि सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाये हैं और लोगों से न घबराने की अपील है।

उन्होंने कहा, ‘‘ हाल ही में नवरात्रि एवं दिवाली त्योहारों के पहले (राज्य में) कोविड-19 के मामले 1200 से घटकर 800 तक आये। लेकिन लोग त्योहारों पर निकलने लगे, रेस्तरां जाने लगे और यार-दोस्तों से मिलने लगे, फलस्वरूप संक्रमण बढ़ गया।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)