जरुरी जानकारी | बीएसएनएल जून तक 30,000 वाईफाई हॉटस्पॉट को पीएम-वाणी के तहत स्थानांतरित करेगी

नयी दिल्ली, 24 मई सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) जून तक अपने 30,000 वाईफाई हॉटस्पॉट को पीएम-वाणी ढांचे में स्थानांतरित करेगी। दूरसंचार विभाग (डॉट) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

अधिकारी ने कहा कि रेलवे के पास भी भविष्य के सभी हॉटस्पॉट को इस ढांचे के तहत लाने के लिए एक महत्वाकांक्षी खाका है।

दूरसंचार विभाग में डीडीजी (डेटा सेवाएं) विवेक नारायण ने ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम (बीआईएफ) के कार्यक्रम में कहा कि पीएम-वाणी वाईफाई हॉटस्पॉट योजना से पर्यटन, स्मार्ट शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों को लाभ मिलेगा।

सरकार ने देशभर में ब्रॉडबैंड इंटरनेट प्रसार को बढ़ावा देने के लिए दिसंबर, 2020 में स्थानीय दुकानदारों को सार्वजनिक वाईफाई नेटवर्क और एक्सेस पॉइंट स्थापित करने को मंजूरी दी। इसके लिए किसी लाइसेंस, शुल्क या पंजीकरण की जरूरत नहीं होगी।

सार्वजनिक वाई-फाई पहुंच नेटवर्क इंटरफेस, जिसे पीएम-वाणी के नाम से जाना जाता है, का मकसद देश में बड़े पैमाने पर वाईफाई क्रांति लाना है।

नारायण ने मंगलवार को कहा, ‘‘बीएसएनएल जून तक अपने 30,000 हॉटस्पॉट को पीएम-वाणी में स्थानांतरित कर देगी। रेलवे पहले ही पीएम वानी में लगभग 100 रेलवे स्टेशनों को शामिल कर चुका है और अपने सभी हॉटस्पॉट को कवर करने जा रहा है... रेलवे जून तक सभी को पीएम-वाणी के तहत कवर कर देगा।’’

उन्होंने बताया कि इसके अलावा रेलवे ने कहा है कि भविष्य में उसके सभी हॉटस्पॉट पीएम-वाणी ढांचे के तहत होंगे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)