चेन्नई से विमान सेवा बहाल, 116 यात्री दिल्ली के लिए रवाना
जियो

चेन्नई, 25 मई इंडिगो एयरलाइन का एक विमान 116 यात्रियों को चेन्नई हवाईअड्डे से लेकर सोमवार को दिल्ली के लिए रवाना हुआ। देश में घरेलू विमान सेवा बहाल होने के बाद यहां से यह पहली उड़ान सेवा है।

यह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लिए सुबह छह बजकर 40 मिनट पर रवाना हुआ। वहीं दिल्ली से भी इसी एयरलाइन का एक विमान यहां आने वाला पहला विमान है। इसमें कुल यात्रियों की संख्या क्षमता संख्या से बेहद कम 27 ही है।

उन्होंने बताया कि दिन भर में कुल 16 उड़ानों से यात्री शहर में पहुंचेंगे। तमिलनाडु सरकार ने केंद्र से प्रतिदिन 25 उड़ानों के परिचालन की मांग की थी। वहीं शहर से दिनभर 19 उड़ानों का परिचालन किया जाएगा। शहर से दिल्ली, मुंबई, कोयंबतूर, मदुरै और पोर्ट ब्लेयर के लिए विमानों का संचालन हो रहा है।

यात्रियों की थर्मल जांच से लेकर बाकी अन्य सभी स्वास्थ्य नियमों का पालन आने वाले और जाने वाले यात्रियों के लिए यहां किया जा रहा है।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने पिछले सप्ताह कहा था कि सोमवार से चरणबद्ध तरीके से घरेलू विमान सेवा को बहाल किया जाएगा।

उन्होंने रविवार को कहा था कि चेन्नई हवाई अड्डे पर अधिकतम 25 उड़ानें ही आएंगी लेकिन यहां से उड़ान भरने वाली विमानों की संख्या की सीमा तय नहीं की गई। वहीं तमिलनाडु के अन्य हिस्सों में स्थिति हवाई अडड्डों के लिए देश के बाकी हिस्सों वाला ही नियम लागू रहेगा।

तमिलनाडु सरकार ने दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों के लिए दिशा-निर्देश जारी करते हुए 14 दिन तक घर में पृथक वास और प्रवेश के लिए ई-पास के नियम जारी किए थे।

मुख्य सचिव के शंमुगम ने केंद्र सरकार से एक पत्र में कहा था कि कोयंबतूर, मदुरै और तिरुचिरापल्ली हवाईअड्डे पर भी उड़ानों का संचालन किया जा सकता है। लेकिन मामलों की अधिकता को देखते हुए गुजरात और महाराष्ट्र से आने वाले विमानों में यात्रियों की संख्या कम से कम ही रखी जाए और तमिलनाडु से अन्य स्थानों पर जाने के लिए विमानों की संख्या कोई मुद्दा नहीं है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, लेटेस्टली स्टाफ ने इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया है)