न्यूजीलैंड और फ्रांस ने ऑनलाइन बढ़ रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए बढ़ाया कदम
न्यूजीलैंड और फ्रांस (Photo Credit-Pixabay Flickr Global Panorama)

वेलिंगटन:  न्यूजीलैंड (New Zealand) और फ्रांस (France) ने आतंकवाद और हिंसा (Terrorism and Violence) को बढ़ावा देने एवं प्रायोजित करने की सोशल मीडिया की क्षमता समाप्त करने की कोशिश के तहत देशों और तकनीक कंपनियों को एक साथ लाने के लिए बुधवार को एक संयुक्त प्रयास की घोषणा की. यह बैठक 15 मई को पेरिस में होगी और न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न और फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों इसकी सह-अध्यक्षता करेंगे.

अर्डर्न ने कहा कि क्राइस्टचर्च में 15 मार्च को दो मस्जिदों में हुए हमले में सोशल मीडिया ‘‘का इस्तेमाल आतंकवाद और घृणा को प्रोत्साहित करने के जरिए के तौर पर असाधारण तरीके’’ से इस्तेमाल किया गया. इस हमले में 50 मुसलमानों की मौत हो गई थी. हमलावर ने इन हमलों का इंटरनेट पर सीधा प्रसारण किया था.

यह भी पढ़ें: श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट: प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने बुलाई आपात बैठक, लोगों से की एकजुट और मजबूत रहने की गुजारिश

अर्डर्न ने कहा, ‘‘हमने तकनीक कंपनियों के प्रमुखों से पेरिस में क्राइस्टचर्च शिखर सम्मेलन में ऑनलाइन हिंसक अतिवाद को समाप्त करने के हमारे लक्ष्य को हासिल करने में मदद करने और हमारे साथ जुड़ने की अपील की है.’’