खूंखार आतंकी अबू बकर अल-बगदादी की मौत का VIDEO आया सामने, अमेरिकी सेना ने इस तरह किया था ऑपरेशन
ऑपरेशन का वीडियो आया सामने ( फोटो क्रेडिट- ANI )

स्लामिक स्टेट सरगना अबू बकर अल-बगदादी (Abu Bakr al Baghdadi) के मौत के बाद उसके उत्तरा अधिकारी को भी मार गिराया गया. बगदादी का खात्मा होने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने खुद इस बात की जानकारी दी थी. इस ऑपरेशन को लेकर यूएस सेंट्रल कमांड (U.S. Central Command) ने एक वीडियो जारी किया है. जिसमें दिखाई दे रहा है कि कैसे खूंखार आतंकी बगदादी के ठिकाने पर अमेरिकी सेना ने हमला कर उसका खात्मा किया. इस वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि बारिशा गांव के एक मकान जो चारो तरफ से घिरे एक दीवार के बीच है. वहीं अमेरिकन आर्मी के स्पेशल कमांडो कैसे चारो तरफ से उसे घेर के उसके अंदर जा रहे हैं. हालांकि, इससे पहले अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने सुरक्षा के लिहाज से उसके बारे में कोई ब्यौरा देने से इनकार कर दिया था. लेकिन प्रेसिडेंट ट्रंप ने वीडियो जारी करने की बात कही थी.

इस ऑपरेशन के दौरान अमेरिकी सेना के विशेष बलों ने और सेना के स्पेशल डॉग दस्ते ने मिलकर के बगदादी के सुरक्षित ठिकाने पर हमला किया था. इस दौरान जब बगदादी ने भागने की कोशिश की तो उसका पीछा किया. उसे इमारत के नीचे बनी एक सुरंग में घेर लिया गया था. उसके बाद बगदादी ने खुद को बम से उड़ा लिया. जिसके बाद अमेरिकी सैनिक पुष्टि के लिए बगदादी का डीएनए टेस्ट किया और इस बात की पुष्टि हो गई.

ऑपरेशन के बाद बगदादी के शव को फोरेंसिक डीएनए जांच के लिए एक सुरक्षित केन्द्र ले जाया गया था ताकि उसकी पहचान की पुष्टि की जा सके और उसके बाद उसका अंतिम संस्कार किया गया। यह प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और इसे उचित तरीके से किया गया. फिलहाल सरगना अबु बकर अल बगदादी के शव को समुद्र में दफन कर दिया गया है. बता दें कि ईराक के समार्रा शहर में 1971 में जन्मे बगदादी ने खुद को खालिफा इब्राहीम का नाम दिया था.

पांच साल पहले आईएसआईएस के उदय के समय से बगदादी पर अमेरिका सरकार ने ढाई करोड़ डॉलर का ईनाम रखा था. वर्ष 2014 से बगदादी को पकड़ने का प्रयास किया जा रहा था. आईएसआईएस पश्चिमी सीरिया से पूर्वी ईराक तक लगभग 88,000 वर्ग किमी के क्षेत्र को नियंत्रित कर वहां के निवासियों को उत्पीड़ित करता रहा है.

गौरतलब हो कि बगदादी से जुड़ी बेहद खुफिया तरीके से दुनिया के सबसे खूंखार आतंकवादी का पता बताने वाले मुखबिर को अमेरिका की ओर से 2.5 करोड़ डॉलर की भारी भरकम इनाम दिया जा सकता है. इस्लामिक स्टेट सरगना अबू बकर अल-बगदादी पर यह इनाम राशि रखी गयी थी.