Tech layoffs: टेक कंपनियों में क्यों हो रही है बड़े पैमाने पर छंटनी? अगले कुछ सप्ताहों में हालात हो सकते हैं और खराब
Meta Pic (Photo Credits Twitter)

Tech layoffs: दुनिया में आर्थिक मंदी (Economic Recession) की खबरों के बीच टेक जगत में लगातार बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है. दुनियाभर में टेक जगत में नौकरियों पर संकट लगातार जारी है. फेसबुक (Facebook) की पेरेंट कंपनी मेटा (Meta) और ट्विटर (Twitter) अमेजन (Amazon) अब तक कई कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा चुकी है. Twitter Row: 1,200 और कर्मचारियों ने ट्विटर से दिया इस्तीफा.

मेटा ने बड़े पैमाने पर लोगों को नौकरी से निकाला. ऐसे ही लिफ्ट (Lyft) ने करीब 700 कर्मचारियों की छंटनी की. फाइनेंसियल टेक कंपनी स्ट्राइप (Stripe) ने भी कुल कार्यबल के 14 प्रतिशत कर्मचारियों की छंटनी की. इंडस्ट्री से जुड़े विशेषज्ञों के मुताबिक आने वाले दिनों में स्थिति और बिगड़ सकती है.

कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रही हैं कंपनियां 

मेटा, अमेजन जैसी बड़ी कंपनियों में इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी छंटनी हो रही है. कंपनियों ने अपना मुनाफा घटने के बाद हजारों कर्मचारियों पर यह कॉस्ट-कटिंग (Cost-Cutting) प्लान लागू किया है. कई कंपनियों में यह छंटनी 2023 में भी जारी रहेगी. उन्होंने आने वाले महीनों के बारे में चेतावनी के संकेत भी दिए. कंपनियों ने कहा कि मंदी का मंडराता खतरा ग्राहकों को खर्च कम करने के लिए मजबूर कर रहा है, जिसके कारण कंपनियों को यह नुकसान उठाना पड़ रहा है.

माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में हजारों और टेककर्मी अपनी नौकरी विभिन्न कंपनियों में गंवा सकते हैं. तमाम टेक कंपनियों की कमाई में पिछले कुछ महीनों में कमी आई है. ऐसे में कंपनियां स्थितियों को देखते हुए और कर्मचारियों को भी नौकरी से निकाल सकती हैं.

Cost Cutting की चपेट में कर्मचारी

कोलंबिया बिजनेस स्कूल के एक सहयोगी प्रोफेसर डेन वांग ने कहा कि कंपनियां लागत कम करने की कोशिश कर रही हैं. इसका मतलब है कि आने वाले हफ्तों और महीनों में भी इसका असर देखने को मिलेगा. वांग ने बताया, "जब कंपनियां लागत में कटौती करती हैं, तो आमतौर पर श्रम लागत और विज्ञापन और विपणन भी सबसे पहले होता है." ऐसे में कर्मचारियों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है.

इन बड़ी कंपनियों में हुई बड़ी छंटनी

ट्विटर और मेटा के बाद टेक कंपनियों की दुनिया में लोगों की नौकरी पर खासा संकट मंडरा रहा है. मशहूर टेक कंपनी अमेजन में भी 10,000 लोगों की छंटनी जारी है.

अगले साल भी होगी छंटनी

कई कंपनियां आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रही हैं. इस बीच वे अगले वित्तीय वर्ष के लिए भी योजना बना रही हैं. अमेजन, मेटा और Google के पास वित्तीय वर्ष हैं जो 2022 के अंत में या 2023 की शुरुआत में समाप्त होते हैं. हो सकता है कि वे अपनी बैलेंस शीट से लागत कम करने के विकल्प तलाश रहे हों.