बरसात में सांप आ जाते हैं बिल से बाहर, रहें सावधान, काटने पर करें ये उपाय
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: Pixabay)

भारत में साल भर में करीब ढाई लाख लोगों को सांप काट लेते हैं और उनमें से करीब 46 हजार लोगों की मौत हो जाती है. सांप काटने की ज्यादातर घटनाएं गांव में होती है. बहुत से गांव और देहातों में सांप काटने का इलाज मौजूद न होने पर लोगों को घरेलू उपचार करने पड़ते हैं. गर्मियों और बरसात में ये घटनाएं ज्यादा होती हैं क्योंकि गर्मियों में सांप हवा खाने के लिए बिल से बाहर आते हैं और बरसात में पानी भर जाने के बाद वो बिल से निकलकर कहीं सुरक्षित जगह छिप जाते हैं. बहुत बार तो वो लोगों के घरों में भी छिपकर रहने लगते हैं. बरसात के मौसम में सांप अक्सर जगह-जगह देखे जाते हैं. ज्यादातर सांप पैरों या हाथों में काटते हैं क्योंकि शरीर के इन अंगों तक वो बड़ी ही आसानी से पहुंच जाते हैं. इसलिए बरसात में गंबूट्स पहने और गर्मियों में अच्छे जूते पहननें ताकि अगर गलती से सांप आपके पैरों के नीचे आ जाए तो आपको काट न सके. खेतों में काम करनेवाले लोगों को घास की कटाई करते वक्त प्लास्टिक ग्लव्स का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि सांप काटने से बचा जा सके. जहरीले सांप के काटन एक तुरंत बाद अगर सही इलाज हो जाए तो व्यक्ति की मौत होने से बच सकती है. आइए अहम आपको बताते हैं कि सांप काटने से बचने के कुछ उपाय.

यह भी पढ़ें: सांप काटने पर तुरंत करें ये इलाज, किसी की जान बचाने के लिए ये नुस्खे आ सकते हैं काम

इंजेक्शन से निकालें जहर वाला खून: अगर सांप काट ले और अस्पताल दूर है तो जल्दी से पास की किसी डिस्पेंसरी या मेडिकल शॉप से इंजेक्शन ले आएं. इंजेक्शन में लगी सुई के नुकीले भाग को काट दें. इसके बाद इंजेक्शन पाइप का काम करेगा. जहां सांप ने काटा होगा वहां उसके दांतों के दो निशान दिखाई देंगे. पहले एक डंक पर इंजेक्शन रखकर इन्जेशन को पीछे की ओर खींचे जैसे पिचकारी में पानी भर रहे हो और ऐसा तब तक करते रहें जब तक उस जगह से खून आना न बंद हो जाए. ऐसा ही दूसरी वाली डंक पर भी करें. इससे जहर निकल जाएगा और जान का खतरा भी कम हो जाएगा. सबसे बड़ी बात अस्पताल तक पहुंचने के लिए काफी वक्त भी मिल जाएगा. अगर सांप का काटा हुआ डंक या निशान न दिखाई दे तो आपको उस जगह को ढूंढना होगा जहां स्किन सूजी हुई और लाल दिखाई दे.

घर में हमेशा रखें ये दवाई: जो लोग गांव और देहातों में रहते है और अस्पताल वहां से काफी दूर है. वहां के लोगों को घर में NAJA 200 दवाई रखनी चाहिए. इसकी कीमत सिर्फ 125 रुपये है. ये एक होम्योपैथी दावा है जो किसी भी होम्योपैथी मेडिकल स्टोर में उपलब्ध हो जाएगी. इस दवाई से आप सैकड़ों लोगो की जाना बचा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: ये है दुनिया के सबसे जहरीले और खतरनाक सांप, इनके काटने से तुरंत हो जाती है मौत

भारत मे 550 प्रजाति के सांप हैं, इनमे से मुश्किल से 10 प्रजाति के सांप जहरीले होते हैं. इसका मतलब ये है कि 540 सांप ऐसे है जिनके काटने से आपको कुछ नहीं होगा. लेकिन सांप के काटने के डर से ही कुछ लोगों की मौत हो जाती है. कई बार तो आदमी हार्ट अटैक से मर जाता है. इसलिए किसी भी सांप के काटने पर घबराएं नहीं बल्कि शान्ति से काम लें.

नोट- इस लेख में दी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है. इसकी वास्तविकता, सटीकता और विशिष्ट परिणाम की हम कोई गारंटी नहीं देते हैं. इसके अलावा इस लेख में बताए गए टिप्स पूरी तरह कारगर से होंगे या नहीं इसका भी हम कोई दावा नहीं करते हैं.