लॉकडाउन से साफ हुआ गंगा नदी का पवित्र पानी, उत्तर प्रदेश में हुआ आश्चर्यजनक सुधार
गंगा नदी (Photo Credits: Pixabay)

लखनऊ: देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के प्रकोप के बीच एक अच्छी खबर है. दरअसल कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए 21-दिन के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में गंगा नदी (Ganga River) की जल गुणवत्ता में बड़ा सुधार हुआ है. इसके साथ ही कई शहरों में बेहतर वायु गुणवत्ता (Air Quality) होने से लोगों को राहत मिली है.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए आईआईटी (बीएचयू) वाराणसी में केमिकल इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर डॉ पीके मिश्रा ने बताया कि गंगा नदी में प्रदूषण का 1/10वां हिस्सा उद्योगों से आता है, जो कि लॉकडाउन के कारण बंद हैं. इसलिए गंगा नदी की स्थिति बेहतर हो गई है. हमने गंगा नदी के पानी में 40-50% सुधार देखा है, जो कि बहुत बड़ी बात है. ऋषिकेश: पूर्व दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी जोंटी रोड्स ने गंगा में लगाई डुबकी, शेयर की ये खास तस्वीर

वहीं, वाराणसी के स्थानीय निवासियों का भी कहना है कि लॉकडाउन के बाद से गंगा साफ हो गई है. पवित्र स्नान स्थल पर कोई भी गंदगी नहीं नजर आ रही है. साथ ही नमामि गंगे मिशन के तहत गंगा में मिलने वाले प्रमुख नालों को भी बंद किए जाने से गंगा नदी का पानी शुद्ध हुई है.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान वाहन, कारखाने और कार्बन उत्सर्जन से जुड़े तमाम माध्यम बंद रहने के कारण पिछले हफ्ते से दिल्ली सहित सभी महानगरों के वायु प्रदूषण के स्तर में 20 से 25 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई है. देश के 104 शहरों में वायु प्रदूषण की स्थिति पर सीपीसीबी के वायु गुणवत्ता सूचकांक के माध्यम से निरंतर निगरानी की जाती है.