देश की खबरें | उप्र: अधजली अवस्‍था में मिली स्‍नातक की छात्रा, पिता ने दोस्त पर लगाया आरोप

शाहजहांपुर / लखनऊ, 23 फरवरी उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में संदिग्ध परिस्थितियों में कॉलेज से गायब हुई स्नातक की छात्रा अधजली हालत में राजमार्ग के किनारे मिली। पीड़िता को गंभीर हालत में लखनऊ रेफर किया गया है।

पुलिस के अनुसार, छात्रा के पिता की तहरीर पर मामला दर्ज कर लिया गया है और घटना की जांच की जा रही है। छात्रा के पिता ने अपनी बेटी की दोस्त को वारदात का कुसूरवार ठहराया है।

पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने मंगलवार को बताया कि शहर के ही स्वामी शुकदेवानंद पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज में स्नातक में पढ़ने वाली छात्रा लखनऊ-बरेली राजमार्ग पर नगरिया मोड़ के पास खेतों में नग्न अवस्था में मिली है।

उन्होंने बताया कि सोमवार को पीड़िता अपने पिता के साथ बरेली मोड़ स्थित कॉलेज में पढ़ने के लिए आई थी। छात्रा का पिता कॉलेज के बाहर बैठा रहा जबकि छात्रा पढ़ने के लिए कॉलेज में चली गई।

आनंद ने बताया, ‘‘जब तीन बजे तक छात्रा वापस नहीं आई तो उसके पिता ने तलाश शुरू की। इस बीच, छात्रा के पिता को किसी ने सूचना दी की उनकी बेटी नगरिया मोड़ के पास जली हुई अवस्था में पड़ी है और पुलिस उसे मेडिकल कॉलेज ला रही है।’’

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, पुलिस अधिकारी तथा मजिस्ट्रेट द्वारा छात्रा के बयान लेने का काफी प्रयास किया गया परंतु वह बोल नहीं सकी। छात्रा काफी झुलस गई है, ऐसे में उसे बेहतर इलाज के लिए लखनऊ स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

इस बीच, सिविल अस्पताल के निदेशक एसएससी सुंदरीयाल ने मंगलवार रात बताया कि लड़की की स्थिति स्थिर है और उसकी हालत की निगरानी की जा रही है

छात्रा के पिता ने सिविल अस्पताल में पत्रकारों को बताया, "हम पूर्वान्ह करीब दस बजे कॉलेज जाने के लिए घर से निकले थे और मैंने उसे 11:00 बजे कॉलेज के गेट पर छोड़ा। जब अपराह्न तीन बजे कॉलेज में छुट्टी हुई तो मैंने अपनी बेटी को बाहर निकलते नहीं देखा और शाम छह बजे तक उसका कुछ पता नहीं लगा। उसके बाद मुझे एक फोन कॉल आई जिस पर मुझे मेरी बेटी के बारे में बताया गया।"

अपनी बेटी की एक मित्र की तरफ इशारा करते हुए लड़की के पिता ने कहा, "उसने मेरी बेटी से कॉलेज के एक अन्य गेट से अंदर जाने को कहा था लेकिन वह खुद उस गेट से नहीं गई थी। मेरी बेटी के साथ जो कुछ भी हुआ उसकी जिम्मेदार उसकी दोस्त है।"

उल्‍लेखनीय है कि वर्ष 2019 में शाहजहांपुर के स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने एक वीडियो में स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे। इस कॉलेज को स्वामी चिन्मयानंद का ट्रस्ट चलाता है। इस मामले में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद की मुमुक्ष आश्रम से गिरफ्तारी हुई थी लेकिन बाद में सुनवाई के दौरान एमपी-एमएलए अदालत में छात्रा ने स्‍वामी पर किसी तरह का आरोप लगाने से इन्‍कार कर दिया था। पिछले वर्ष स्‍वामी चिन्‍मयानंद को इलाहाबाद हाईकोर्ट से इस मामले में जमानत मिली थी।

इस बीच, शाहजहांपुर से ही मिले एक अन्‍य समाचार के अनुसार जिले में लापता दो चचेरी बहनों में एक का शव पुलिस ने बरामद किया है जबकि दूसरी गंभीर रूप से घायल खेत में पड़ी मिली।

पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने मंगलवार को बताया कि थाना कांट अंतर्गत भानपुर गांव में रहने वाली दो चचेरी बहनें गांव के बाहर ट्यूबवेल पर नहाने गई थी जब शाम छह बजे तक वापस नहीं लौटी तो परिजनों ने ग्रामीणों के साथ उनकी तलाश शुरू की। एक बच्ची की उम्र पांच वर्ष जबकि दूसरी की सात वर्ष है।

उन्होंने बताया कि सोमवार देर रात गांव के बाहर खेतों में पांच वर्षीय बच्ची मृत अवस्था में पड़ी मिली जबकि इसकी चचेरी बहन दूसरे गांव फाजिलपुर में सरसों के खेत में गंभीर रूप से घायल पड़ी मिली।

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने तत्काल बच्ची को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा और दूसरी बच्ची के शव को कब्ज़े में ले लिया।

आनंद ने बताया कि मामले में सोमवार रात से ही पुलिस की टीम संदिग्धों को बुलाकर पूछताछ कर रही है और एक दर्जन लोगों से इस मामले में पूछताछ की जा चुकी है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)