जरुरी जानकारी | वैश्विक आर्थिक परिदृश्य उतना बुरा नहीं, जितने की आशंका व्यक्त की जा रही थी: ओईसीडी

अंतरराष्ट्रीय संगठन ओईसीडी ने बुधवार को जारी अपनी एक रपट में इस साल वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 4.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान जताया। यह उसके जून में जताए गए छह प्रतिशत गिरावट के अनुमान से कम है।

संगठन ने अगले साल वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार और पांच प्रतिशत की दर से वृद्धि करने की भी उम्मीद जतायी है।

यह भी पढ़े | SSLC Supplementary Exams 2020: कर्नाटक सरकार 21-28 सितंबर से परीक्षा के दौरान छात्रों के लिए केएसआरटीसी बसों में मुफ्त यात्रा की दी अनुमति.

हालांकि, इस सबके बावजूद ओईसीडी ने कोरोना वायरस माहमारी के जारी रहने के बीच आर्थिक परिदृश्य में ‘उल्लेखनीय रूप से अनिश्चिता’ रहने की बात भी कही। संगठन ने कहा कि इसके छिटपुट स्थानीय मामले आते रहेंगे और इसका टीका 2021 के उत्तरार्द्ध से पहले नहीं आएगा।

ओईसीडी ने अमेरिकी अर्थव्यवस्था को लेकर अपना अनुमान संशोधित किया है। अब इसमें इस साल 3.8 प्रतिशत का संकुचन रहने का अनुमान जताया गया है जो पहले 7.3 प्रतिशत था।

यह भी पढ़े | Sherlyn Chopra Hot Photos: शर्लिन चोपड़ा ने नेट गाउन पहन फैंस किया हैरान, हॉटनेस देखते रह जाएंगे आप.

वहीं 20 शक्तिशाली देशों के समूह में चीन इकलौता ऐसा देश होगा जिसकी अर्थव्यवस्था में इस साल 1.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज होगी। जबकि पहले इसमें 2.6 प्रतिशत की गिरावट आने का अनुमान था।

ओईसीडी ने भारत, मेक्सिको और दक्षिण अफ्रीका को लेकर अपने अनुमान में कटौती की है। संगठन ने विभिन्न देशों से आग्रह किया है कि विश्वास को बनाये रखने और अनश्चिचतता को कम से कम करने के लिये वह अगले साल कर नहीं बढ़ायें और खर्चों में कटौती नहीं करें। अर्थव्यवस्था के लिये राजकोषीय और मौद्रिक समर्थन को बनाये रखने की जरूरत है।

पेरिस स्थित यह संगठन (ओईसीडी) विकसित देशों को आर्थिक नीतियों पर सलाह देता है।

एपी

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)