देश की खबरें | ठाणे के महापौर ने शहर को स्वच्छता पुरस्कार मिलने की सूचना नहीं देने का निकाय प्रशासन पर लगाया आरोप

ठाणे (महाराष्ट्र), 25 नवंबर ठाणे के महापौर नरेश म्हास्के ने नगर निकाय प्रशासन पर आरोप लगाया है कि उसने नगर निगम को केंद्र सरकार का ‘स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार’ 2021 मिलने को लेकर उन्हें अंधेरे में रखा।

महापौर ने नगरपालिका आयुक्त विपिन शर्मा को कड़े शब्दों में पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें ठाणे नगर निगम (टीएमसी) को पुरस्कार मिलने का पता प्रिंट मीडिया से चला। पिछले सप्ताह घोषित किए गए पुरस्कारों में ठाणे नगर निगम को ‘‘कचरा मुक्त शहर और अपशिष्ट प्रबंधन’ श्रेणी में 14वां स्थान मिला है।

उन्होंने मीडिया के साथ बुधवार को साझा किए गए पत्र में कहा, ‘‘निकाय प्रशासन महापौर और निर्वाचित प्रतिनिधियों का अपमान कर रहा है और उन्हें दरकिनार कर रहा है।’’

उन्होंने कहा कि प्रशासन ने पुरस्कार के बारे में उन्हें सूचित करने का शिष्टाचार भी नहीं दिखाया।

म्हास्के ने दावा किया, ‘‘अन्य नगर निकायों में, महापौर और अन्य पदाधिकारी पुरस्कार प्राप्त करने के लिए उपस्थित थे, लेकिन ठाणे के मामले में, निकाय अधिकारियों ने महापौर और अन्य पदाधिकारियों को सूचित नहीं किया। यहां तक ​​कि अपशिष्ट प्रबंधन के अतिरिक्त नगर आयुक्त प्रभारी को भी इस बारे में नहीं बताया गया।

उन्होंने कहा कि टीएमसी के निर्वाचित प्रतिनिधि प्रोटोकॉल का पालन नहीं किए जाने और महापौर का ‘‘बार-बार अपमान’’ किए जाने से खफा हैं। उन्होंने कहा कि वे ‘‘असहयोग आंदोलन’’ की योजना बना रहे हैं।

महापौर ने आयुक्त से मामले की जांच कराने और इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)