देश की खबरें | तमिलनाडु सरकार ने सप्ताहांत में मंदिरों में दर्शन पर रोक हटाई, दुकानें भी रात 11 बजे तक खुलेंगी

चेन्नई, 14 अक्टूबर तमिलनाडु सरकार ने बृहस्पतिवार को मंदिरों में सप्ताहांत में पूजा करने पर लगे प्रतिबंध को हटा लिया और रेस्तरां व बेकरी सहित सभी दुकानों को रात 11 बजे तक खुले रहने की अनुमति दे दी।

सरकार ने कहा कि सप्ताहांत पर समुद्र तटों पर जाने पर लगे प्रतिबंध में भी ढील दी गई है। कोविड -19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करके ट्यूशन सेंटर खोले जा सकते हैं और रोजगार मेला आयोजित किए जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ तमिलनाडु में महामारी की स्थिति और पड़ोसी राज्यों के हालात की समीक्षा की। उन्होंने हफ्ते के सभी दिन मंदिरों में पूजा करने की अनुमति देने की घोषणा की।

फैसले पर सरकार का आभार जताते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने कहा, “इसी बात पर भाजपा हमेशा से जोर देती रही है और उसने सात अक्टूबर को पूरे राज्य में विरोध- प्रदर्शन भी किया था।”

हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ बंदोबस्ती विभाग के आयुक्त कुमारगुरुबरन ने कहा, “सरकार ने श्रद्धालुओं को कल से सभी दिन मंदिरों में पूजा करने की अनुमति दे दी है। सरकार द्वारा निर्धारित एसओपी के अनुसार जरूरी व्यवस्था की जानी है।”

सरकार की ओर से बृहस्पतिवार को जारी एक विज्ञप्ति में मुख्यमंत्री के हवाले से कहा गया है कि राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और त्योहारों के आयोजन पर प्रतिबंध कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी रहेगा।

विज्ञप्ति के मुताबिक, एक नवंबर से प्ले स्कूल, किंडरगार्टन कक्षाएं और आंगनबाड़ियों को खोलने की इजाजत दी गई है और वहां काम करने वाले सभी कर्मचारियों को कोविड-19 रोधी टीके लगे होने चाहिए।

एक नवंबर से शादियों में 100 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी गई है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)