देश की खबरें | सोनिया, राहुल ने जाम्बिया के प्रथम राष्ट्रपति के निधन पर दुख जताया

नयी दिल्ली, 18 जून कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जाम्बिया के प्रथम राष्ट्रपति एवं आधुनिक जाम्बिया के संस्थापक डॉ. केनेथ डेविड कौंडा के निधन पर शुक्रवार को दुख जताया और कहा कि वह भारत के एक सच्चे मित्र थे तथा आने पीढ़ियों को भी वह प्रेरणा देते रहेंगे।

सोनिया ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘कौंडा एक कद्दावर व्यक्तित्व थे जिन्होंने उपनिवेशवाद के खिलाफ संघर्ष का नेतृत्व किया। एक राजनेता के तौर पर उन्होंने जाम्बिया को संवारा। उन्हें भारत के सच्चे दोस्त और गुटनिरपेक्ष आंदोलन के लिए याद किया जाएगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत और कांग्रेस पार्टी के साथ उनके विशेष संबंध को हमेशा संजो कर रखा जाएगा। दुख की इस घड़ी में भारत और कांग्रेस पार्टी जाम्बिया की जनता एवं कौंडा के परिवार एवं मित्रों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करती है।’’

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘डॉक्टर केनेथ डेविड कौंडा के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। वह अफ्रीकी स्वतंत्रता के चैम्पियन थे और वह आने पीढ़ियों के लिए प्रेरणा स्रोत बने रहेंगे। उनके परिवार और जाम्बिया के लोगों के प्रति मेरी संवेदना है।’’

कौंडा का 97 साल की उम्र में बृहस्पतिवार को निधन हो गया। उन्हें सोमवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनका न्यूमोनिया का इलाज चल रहा था।

कौंडा उस आंदोलन के नेता थे जिसके कारण दक्षिण अफ्रीकी देश जाम्बिया में अंग्रेजों का औपनिवेशिक शासन समाप्त हुआ । वह 1964 में जाम्बिया के पहले लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित राष्ट्रपति बने।

हक

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)