देश की खबरें | जमीनीं स्तर पर हैंडबॉल को बढ़ावा देने के लिये 240 करोड़ रूपये निवेश का वादा

नयी दिल्ली, 15 सितंबर आगामी प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) के लाइसेंसधारक ब्लूस्पोर्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने देश में खेल को बढ़ावा देने के लिये 240 करोड़ रूपये के निवेश का वादा किया और उनके इस प्रस्ताव का राष्ट्रीय महासंघ ने स्वागत किया है।

कंपनी ने कहा कि वह अगले पांच वर्षों में भारत में पुरुष और महिलाओं दोनों के हैंडबॉल के विकास में तेजी लाने के लिए इस धन का उपयोग करेगी और उसका लक्ष्य न केवल अभिजात वर्ग के स्तर पर बल्कि जमीनी स्तर पर भी इस खेल को बढ़ावा देना होगा।

ब्लूस्पोर्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सह संस्थापक मनु अग्रवाल ने कहा, ‘‘एक पेशेवर हैंडबॉल लीग और उसके विपणन के अलावा हम विभिन्न रणनीतिक सहयोगों और विशेष रूप से खिलाड़ियों, प्रशिक्षकों को प्रशिक्षित करने के साथ-साथ भारत में हैंडबॉल से जुड़े बुनियादी ढांचे को उन्नत करने के लिए तैयार किए गए कार्यक्रमों के माध्यम से जमीनी स्तर पर खेल को विकसित करने के लिए एक समग्र दृष्टिकोण पर भी विचार कर रहे हैं। ’’

भारतीय हैंडबॉल महासंघ ने उनके सहयोग का स्वागत किया।

महासंघ के कार्यकारी निदेशक आनंदेश्वर पांडे ने कहा, ‘‘हैंडबॉल पर वैश्विक स्तर पर काफी निवेश किया जाता है और यह खेल लोकप्रियता और व्यावसायिक रूप से काफी विकास कर चुका है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम भारत में काफी वर्षों से इस खेल के विकास के लिये तेजी से काम कर रहे हैं और हमारा मानना है कि ब्लूस्पोर्ट एंटरटेनमेंट के इस निवेश से इस प्रक्रिया को मजबूती मिलेगी। ’’

कंपनी ने अगले 10 वर्षों के लिए भारत में पुरुष और महिला लीग-पीएचएल दोनों के अधिकार पहले ही हासिल कर लिए हैं।

पुरुषों और महिलाओं के खेलों के लिए 120 करोड़ रुपये के निवेश के साथ, कंपनी ने देश में जमीनी स्तर पर विकास के लिए 35 करोड़ खर्च करने की योजना बनाई है।

दुनिया भर में 190 से अधिक देशों में खेले जाने वाले हैंडबॉल की भारत में जमीनी स्तर पर अपार लोकप्रियता है और वर्तमान में देश में 85000 से अधिक पंजीकृत खिलाड़ी हैं।

पीएचएल का पहला टूर्नामेंट अगले साल आयाोजित किया जाएगा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)