देश की खबरें | तरुण गोगोई के स्वास्थ्य में आंशिक सुधार, डायलिसिस का पहला चक्र पूरा: चिकित्सक
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

गुवाहाटी, 22 नवंबर असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के स्वास्थ्य में रविवार सुबह मामूली सुधार देखा गया और वह अभी अर्ध चेतन अवस्था में हैं। गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (जीएमसीएच) के अधीक्षक अभिजीत शर्मा ने यह जानकारी दी।

शर्मा ने संवाददाताओं को बताया उनके गुर्दे ठीक से काम कर सकें, इसके लिए दिन में चिकित्सकों ने डायलिसिस का पहला चक्र पूरा किया।

यह भी पढ़े | Jagdish Chandra Bose Death Anniversary: महान वैज्ञानिक जगदीशचंद्र बसु, दुनिया का पहला वैज्ञानिक जिसने पहचाना पौधों का दर्द!.

उन्होंने कहा,‘‘ पोटैशियम के स्तर को कम करने के लिए हमारे नेफ्रोलॉजिस्ट ने डायलिसिस का सुझाव दिया था। डायलिसिस शुरू हो गई है और हम देखते हैं कि उनका मूत्र उत्सर्जन सामान्य होता है कि नहीं।’’

कांग्रेस के 84 वर्षीय दिग्गज नेता को कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त होने के बाद पैदा हुई दिक्कतों की वजह से दो नवंबर को जीएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

यह भी पढ़े | Lockdown Again in Maharashtra? महाराष्ट्र में क्या फिर होगा लॉकडाउन? जानें CM उद्धव ठाकरे ने क्या कहा.

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने रविवार को उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की और अस्पताल के अधिकारियों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।

स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा, राज्य के कैबिनेट मंत्री और अगप नेता अतुल बोरा, केशब महंत, भाजपा नेता रमन डेका और एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल आदि ने गोगोई के स्वास्थ्य के बारे में अस्पताल जा कर जानकारी ली।

उनके बेटे और लोकसभा सदस्य गौरव गोगोई असम के मुख्य सचिव जीष्णु बरूआ के साथ शनिवार रात अस्पताल पहुंचे। गोगोई की बेटी और बहू भी रविवार को अस्पताल पहुंचीं।

शनिवार रात से ही सांसद, विधायक और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अस्पताल में डेरा डाले हुए हैं।

गोगोई के समर्थक राज्य भर के मंदिरों, मस्जिदों में उनके शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थनाएं कर रहे हैं।

शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि चिकित्सकों ने कई जांचों को दोहराया और शनिवार की तुलना में उनके स्वास्थ्य में सुधार देखा गया।

उन्होंने कहा, ‘‘ वह अर्ध चेतन अवस्था में हैं। हमने कल रात कहा था कि उनके लिए 48 घंटे बेहद नाजुक हैं। 24 घंटे बीत चुके हैं और उनकी स्वास्थ्य स्थिति में कोई गिरावट नहीं देखी गई। यह सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण बात है।’’

गोगोई का स्पंद दर और रक्तचाप नियंत्रण में है और ऑक्सीजन दर 95-97 फीसदी है।

उन्होंने बताया, ‘‘चिंता की एकमात्र वजह पेशाब की मात्रा है, जो पिछले 24 घंटे में 100-120 मिलीलीटर ही रहा है।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)