देश की खबरें | मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों की जांच के लिए संदेशखालि में एनएचआरसी की टीम ने लोगों से बात की

कोलकाता, 23 फरवरी राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की एक टीम शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के संदेशखालि पहुंची और महिलाओं के यौन उत्पीड़न के आरोपों के बारे में तथ्य जुटाने के लिए ग्रामीणों से बात की।

उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखालि में बड़ी संख्या में लोगों ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता शाहजहां शेख और उनके समर्थकों पर "जमीन हड़पने व यौन उत्पीड़न" का आरोप लगाया है।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम संदेशखाली में कुछ इलाकों में गई और ग्रामीणों से बात कर उनके बयान दर्ज किए।

एनएचआरसी ने पहले एक बयान में कहा था कि टीम का नेतृत्व आयोग का एक सदस्य करेगा और अधिकारी उसकी मदद करेंगे।

मानवाधिकार आयोग की टीम नाव से कालागाछी नदी पार करने के बाद धमाखालि नौका घाट से होते हुए संदेशखालि पहुंची।

एनएचआरसी ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में आईं खबरों पर स्वत: संज्ञान लिया है, जिनमें कहा गया है कि संदेशखालि में गरीब महिलाओं को कथित तौर पर परेशान किया गया और उनका यौन उत्पीड़न किया गया।

एनएचआरसी ने कहा कि उसने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर संदेशखालि में हुई हिंसा के संबंध में चार सप्ताह में रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)