खेल की खबरें | मलिंगा ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लिया

कोलंबो, 14 सितंबर डेढ़ दशक से अधिक समय तक बल्लेबाजों के बीच अपनी सटीक यॉर्कर से दहशत पैदा करने वाले श्रीलंका के अनुभवी तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की।

सीमित ओवरों के क्रिकेट के दिग्गज और टी20 प्रारूप के महानतम गेंदबाजों में से एक 38 साल के मलिंगा 2014 में टी20 विश्व कप जीतने वाली श्रीलंका की टीम के कप्तान रहे। उन्होंने सोशल मीडिया पर संन्यास लेने के फैसले की घोषणा की।

मलिंगा ने ट्वीट किया, ‘‘टी20 को अलविदा कह रहा रहूं और क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहा हूं। उन सभी लोगों का आभारी हूं जिन्होंने मेरी यात्रा के दौरान मेरा समर्थन किया और आगामी वर्षों में युवा क्रिकेटरों के साथ अपने अनुभव साझा करने को लेकर उत्सुक हूं।’’

मलिंगा ने एक वीडियो में कहा, ‘‘मैं टी20 से पूरी तरह आराम चाहता हूं। मैं क्रिकेट नहीं खेलूंगा लेकिन खेल के प्रति मेरा प्यार कभी खत्म नहीं होगा।’’

मलिंगा ने श्रीलंका की ओर से आखिरी टी20 मुकाबला मार्च 2020 में पाल्लेकल में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला।

श्रीलंका के लिए सभी प्रारूपों में मिलाकर 546 विकेट चटकाने वाले मलिंगा ने 2011 में टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था और इसके बाद उन्होंने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों से भी संन्यास ले लिया लेकिन टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में खेलना जारी रखा।

उन्हें अगले महीने से होने वाले टी20 विश्व कप के लिए श्रीलंका की टीम में जगह नहीं दी गई थी।

पिछले साल मलिंगा ने टी20 विश्व कप में श्रीलंका की अगुआई करने की इच्छा जताई थी जिसका आयोजन अक्तूबर-नवंबर 2020 में आस्ट्रेलिया में होना था लेकिन कोविड-19 के कारण टूर्नामेंट स्थगित हो गया और अब टी20 विश्व कप अगले महीने होगा।

वह राष्ट्रीय टीम और इंडियन प्रीमियर लीग टीम मुंबई इंडियन्स सहित जिन फ्रेंचाइजियों के लिए खेले उन्हें धन्यवाद देते हुए मलिंगा ने कहा, ‘‘मैं आगामी वर्षों में युवाओं की मदद करने और उनका मार्गदर्शन करने को लेकर उत्सुक हूं।’’

मलिंगा ने 122 आईपीएल मैचों में 170 विकेट चटकाए जो इस लुभावनी टी20 लीग में किसी गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। उनका निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 13 रन देकर पांच विकेट रहा।

मलिंगा ने 84 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 107 विकेट, 226 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 338 विकेट और 30 टेस्ट मैचों में 101 विकेट चटकाए।

वह टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में विकेटों का शतक पूरा करने वाले पहले गेंदबाज हैं।

मुंबई इंडियन्स द्वारा रिलीज किए जाने के बाद मलिंगा ने इस साल जनवरी में फ्रेंचाइजी क्रिकेट को भी अलविदा कह दिया था।

टी20 क्रिकेट के सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक मलिंगा आईपीएल, बिग बैश लीग, कैरेबियाई प्रीमियर लीग और अन्य फ्रेंचाइजी टूर्नामेंटों में अपनी टीम के अहम सदस्य रहे।

मुंबई इंडियन्स के साथ 12 साल के अपने सफर के दौरान मलिंगा पांच में से टीम की चार खिताबी जीत का हिस्सा रहे। उन्होंने 2020 में निजी कारणों से टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया क्योंकि उनके पिता बीमार थे।

मलिंगा ने अपने यूट्यूब चैनल पर वीडियो में कहा, ‘‘पिछले 17 साल में मैंने जो अनुभव हासिल किया उसकी मैदान पर अब जरूरत नहीं है इसलिए मैंने टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला किया जिसके साथ मैंने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मैं युवा पीढ़ी का लगातार समर्थन करता रहूंगा और खेल से प्यार करने वालों के लिए हमेशा उपलब्ध रहूंगा।’’

टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे सफल गेंदबाज मलिंगा ने टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में दो हैट्रिक बनाई। उन्होंने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी तीन हैट्रिक हासिल की।

मलिंगा ने कहा, ‘‘आज का दिन मेरे लिए बेहद खास है। मैं प्रत्येक उस व्यक्ति को धन्यवाद देना चाहता हूं जिसने मेरी टी20 यात्रा में मेरा समर्थन किया। मैं श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड और टीम के सदस्यों, मुंबई इंडियन्स क्रिकेट टीम विशेषकर टीम के मालिकों और अधिकारियों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं साथ ही मेलबर्न स्टार्स, केंट, रंगपुर राइडर्स, कायना वारियर्स, मराठा अरेबियंस और मोंटेरो टाइगर्स की टीम के सदस्यों और स्टाफ को भी धन्यवाद देना चाहता हूं। जब मैं आपके साथ खेला तो मैंने अपनी क्रिकेट यात्रा के दौरान कई अनुभव हासिल किए।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)