देश की खबरें | महाराष्ट्र: बच्चों की हत्या के मामले में तीन संदिग्ध हिरासत में लिए गए
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

मुंबई, 17 अक्टूबर महाराष्ट्र के जलगांव जिले में चार नाबालिग भाई बहनों की हत्या के मामले के संबंध में पुलिस ने तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है।

एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी।

यह भी पढ़े | Navratri 2020: राहुल गांधी ने नवरात्रि की लोगों को दी शुभकामनाएं, ट्वीट कर कहा- नारी का सम्मान करना देवी का पूजन करने जितना ही आवश्यक है.

उन्होंने कहा कि संदिग्ध मृतकों के परिवार वालों को जानते थे।

जांच दल के सदस्य एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “इन तीन संदिग्धों के अलावा हम कुछ और लोगों से पूछताछ कर रहे हैं।”

यह भी पढ़े | महाराष्ट्र में दशहरे से खुलेंगे जिम और फिटनेस सेंटर: 17 अक्टूबर 2020 की बड़ी खबरें और मुख्य समाचार LIVE.

एक अन्य अधिकारी ने कहा कि संदिग्ध मारे गए बच्चों के बड़े भाई के दोस्त हैं।

उन्होंने कहा कि अपने माता पिता के साथ मध्य प्रदेश के लिए रवाना होने से पहले बच्चों के बड़े भाई ने संदिग्धों को उनका ध्यान रखने को कहा था।

रावेर तहसील के बोरखेड़ा शिवर गांव में घटी दिल दहला देने वाली यह घटना शुक्रवार की सुबह सामने आई थी।

बच्चों के माता-पिता खेत में काम करते थे और वह अपने एक दिवंगत परिजन के ‘दश-क्रिया’ के लिए बड़े बेटे के साथ मध्य प्रदेश गए थे।

खेत का मालिक जब घर पहुंचा तब उसने संगीता (13), राहुल (11), अनिल (8) और नानी (6) को खून से लथपथ अवस्था में पाया।

इस बीच, महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शनिवार को परिवार से मुलाकात की और कहा कि मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक अदालत में होगी।

उन्होंने कहा कि यह हत्याएं मानवता पर धब्बा हैं।

उन्होंने कहा कि प्रख्यात वकील उज्ज्वल निकम को इस मामले में विशेष अभियोजक बनाया जाएगा और राज्य सरकार पीड़ित परिवार को उचित वित्तीय सहायता देगी।

यह उल्लेखनीय रहा कि वरिष्ठ भाजपा नेता एकनाथ खड़से और रावेर से भाजपा सांसद रक्षा खड़से देशमुख के दौरे पर उनके साथ थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)