जरुरी जानकारी | जेके पेपर का चौथी तिमाही का मुनाफा 25 फीसदी बढ़कर 170 करोड़ रुपये पर

नयी दिल्ली, 13 मई जेके पेपर लिमिटेड का मार्च में समाप्त वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 25 प्रतिशत बढ़कर 170.17 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कंपनी ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि यह बढ़त बिक्री बढ़ने के कारण हुई है।

कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 136.07 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ कमाया था।

जेके पेपर ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि समीक्षाधीन तिमाही में परिचालन से उसकी एकीकृत आय बढ़कर 1,430.87 करोड़ रुपये पर पहुंच गयी। वित्त वर्ष 2020-21 की इसी तिमाही में यह 979.82 करोड़ रुपये थी।

जेके पेपर ने कहा कि 31 मार्च, 2022 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए कंपनी का एकीकृत शुद्ध लाभ 543.82 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के दौरान यह 236.72 करोड़ रुपये रहा था।

वित्त वर्ष 2021-22 में परिचालन से एकीकृत आय 4,244.33 करोड़ रुपये रहा जबकि वित्त वर्ष 2020-21 में यह 3,000.49 करोड़ रुपये रहा था।

जेके पेपर के वाइस चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक हर्षपति सिंघानिया ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 पूरी तरह से काफी संतोषजनक रहा है। कंपनी ने बीते वित्त वर्ष में अपना अब तक का सबसे अधिक कारोबार और मुनाफा हासिल किया है।

जेके पेपर लिमिटेड के निदेशक मंडल ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 5.50 रुपये प्रति शेयर के लाभांश की सिफारिश की है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)