विदेश की खबरें | ईरान के साथ परोक्ष वार्ता रचनात्मक और व्‍यावहारिक : अमेरिका

वाशिंगटन, नौ अप्रैल अमेरिका ने कहा कि ईरान के साथ विएना में पिछले कुछ दिनों से रचनात्मक और व्‍यावहारिक परोक्ष वार्ता हो रही है।

विशेष राजदूत रॉब माले के नेतृत्व में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ईरान के साथ परोक्ष वार्ता कर रहा है। यह वार्ता यूरोपीय संघ की तरफ से कराई जा रही है।

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में बृहस्पतिवार को कहा कि विएना में जिन प्राथमिक मुद्दों पर चर्चा की जाएगी वह दो भागों में बंटे हैं, पहला ईरान परमाणु समझौते (जेसीपीओए) में अमेरिका के लौटने के लिए ईरान को अपने परमाणु कार्यक्रम के संदर्भ में कदम उठाने होंगे और दूसरा, प्रतिबंधों से राहत देने की दिशा में हमें उठाने होंगे।

उन्होंने कहा कि ईरान के साथ रचनात्मक और व्यावहारिक वार्ता हो रही है।

प्राइस ने कहा, ‘‘ यह सच है कि, हम इसे इस तरह से भी चिह्नित करेंगे। हालांकि, हम अपेक्षाओं को आगे बढ़ाने की जल्दबाजी नहीं करेंगे....और जैसा कि हमने कहा है कि यह प्रक्रिया कठिन होगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ यह इसलिए कठिन होगी क्योंकि यह परोक्ष वार्ता है और यकीनन इसे करने के तरीके बोझिल होंगे। यह इसलिए भी कठिन होगी क्योंकि जिस विषय पर बात की जा रही है वह बेहद तकनीकी तथा बेहद जटिल है और यह इसलिए तकनीकी एवं जटिल है, क्योंकि हम इसके रणनीतिक सूत्रीकरण की प्रक्रिया पर पहुंच गए हैं, जिसके अनुपालन पर राष्ट्रपति जो बाइडन जोर देते रहे हैं।’’

प्राइस ने कहा कि उन्हें इस स्तर पर व्यापक, रणनीतिक वार्ता करने की आवश्यकता नहीं है और वे अभी तकनीकी चर्चा में लगे हुए हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)