देश की खबरें | भारत को भी आग्नेयास्त्र खरीद संबंधी कानून सख्त बनाने की आवश्यकता : चिदंबरम

नयी दिल्ली, 26 मई कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने टेक्सास के एक स्कूल में गोलीबारी की घटना के मद्देनजर बृहस्पतिवार को कहा कि बंदूक नियंत्रण पर अमेरिकी कानून बहुत लचर हैं । चिदंबरम ने कहा कि भारत को भी आग्नेयास्त्रों को खरीदने तथा रखने से संबंधित कानूनों की समीक्षा करने और उन्हें सख्त बनाने की आवश्यकता है।

गौरतलब है कि अमेरिका में टेक्सास राज्य के एक प्राथमिक स्कूल में कक्षा के भीतर 18 वर्षीय बंदूकधारी ने अंधाधुंध गोलीबारी कर 19 बच्चों समेत 21 लोगों की हत्या कर दी और कई अन्य लोग इस घटना में घायल हो गए। इसके बाद पुलिस कार्रवाई में हमलावर मारा गया। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सांसदों से हथियार संबंधी कानूनों को कड़ा करने की अपील की।

चिदंबरम ने कहा, ‘‘टेक्सास के एक स्कूल में चौथी कक्षा के 19 बच्चों की वीभत्स हत्या की निंदा करने के लिए शब्द नहीं हैं। पूरी दुनिया अमेरिकी लोगों और शोक संतप्त परिवार के लिए शोकाकुल है।’’

पूर्व गृह मंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, ‘‘ नफरत फैलाने वाले भाषण और नफरत के कारण हत्याओं के मामले बढ़ रहे हैं, हमें इस पागलपन को पूरी दुनिया पर हावी होने से रोकने के लिए सभी तरीकों का इस्तेमाल करना चाहिए।’’

उन्होंने कहा कि एक तरीका बंदूक नियंत्रण पर कड़े कानून लागू करना और इस पर कड़ा नियंत्रण करना है कि कौन हथियार खरीद सकता है या अपने पास रख सकता है। अमेरिकी कानून इस संबंध में बहुत लचीले और नरम हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘भारत को भी आग्नेयास्त्रों को खरीदने तथा अपने पास रखने संबंधित कानूनों की समीक्षा करने तथा उन्हें कड़े करने की जरूरत है।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)