जरुरी जानकारी | आईसीआईसीआई होम फाइनेंस की कुशल कामगारों के लिये कर्ज योजना

नयी दिल्ली, 16 सितंबर आईसीआईसीआई होम फाइनेंस ने दिल्ली में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कुशल कामगारों के लिये नई ऋण योजना ‘अपना घर ड्रीम्ज’ शुरू की है। इसके तहत 2 लाख रुपये से लेकर 50 लाख रुपये तक का कर्ज लिया जा सकता है।

कंपनी ने बुधवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि योजना शहर में काम करने वाले बढ़ई, बिजली मिस्त्री, दर्जी, पेंटर, बेल्डिंग का काम करने वाले, नल ठीक करने वाले (प्लंबर), वाहन मिस्त्री, विनिर्माण मशीन चलने वाले, आरओ ठीक करने वाले, लघु और मझोले कारोबार करने वाले, किराना दुकानदारों के लिये है।

यह भी पढ़े | Sherlyn Chopra Hot Photos: शर्लिन चोपड़ा ने नेट गाउन पहन फैंस किया हैरान, हॉटनेस देखते रह जाएंगे आप.

आईसीआईसीआई होम फाइनेंस ने कहा कि ऋण योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले उन लोगो के लिये है जो अपना घर खरीदना चाहते हैं लेकिन उनके पास वे दस्तावेज नहीं हैं, जिसकी मांग आमतौर पर बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा कर्ज देने को लेकर की जाती है।

इस योजना के तहत ग्राहक 20 साल के लिये कर्ज ले सकते हैं। दस्तावेज के रूप में उन्हें सिर्फ पैन (स्थायी खाता संख्या) और आधार तथा छह महीने के बैंक खाते का ब्योरा देना होगा। पांच लाख रुपये तक के कर्ज के लिये न्यूनतम 1,500 रुपये जबकि 5 लाख रुपये से अधिक के कर्ज के लिये न्यूनतम 3,000 रुपये खाते में होने चाहिए।

यह भी पढ़े | Pan Card Lost: पैन कार्ड खो जाने पर ना लें टेंशन, ऐसे ऑनलाइन आवेदन कर चंद दिनों में फिर पाएं अपना जरुरी दस्तावेज.

आईसीआईसीआई होम फाइनेंस कंपनी के प्रबंध निदेशक और सीईओ (मुख्य कार्यपालक अधिकारी) अनिरूद्ध कमानी ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई होम फाइनेंस में हमारा मकसद असंगठित क्षेत्र में कठिन मेहनत करने वाले पेशेवरों और स्थानीय छोटे कारोबारियों को अपना घर खरीदने के सपने को पूरा करने के लिये कर्ज की पेशकश करना है।’’

कंपनी ने कहा कि ग्राहक प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) का भी लाभ उठा सकते हैं। यह निम्न आय वर्ग/ आर्थिक रूप से कमजोर तबकों (ईडब्ल्यूएस/एलआईजी) और मध्यम आय वर्ग (एमआईजी-1 और 2) के लिये क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना है।

इस योजना के तहत कर्ज लेने वाला अधिकतम 2.67 लाख रुपये तक की सब्सिडी प्राप्त कर सकता है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)