देश की खबरें | दिल्ली के मुख्य सचिव ने एजेंसियों से कहा : जलभराव को दूर करने के लिए टीम के तौर पर काम करें
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

नयी दिल्ली, दो अगस्त दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव ने लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) को निर्देश दिया है कि वह विभिन्न एजेंसियों के साथ समन्वय कर महानगर में जलभराव की समस्या को दूर करे। इसके साथ ही उन्होंने सभी एजेंसियों से कहा कि वे टीम के तौर पर काम करें और ऐसा नहीं होने पर जवाबदेही तय की जाएगी। यह जानकारी रविवार को अधिकारियों ने दी।

इन एजेंसियों में नयी दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी), दिल्ली नगर निगम (एमसीडी, दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) आदि शामिल हैं।

यह भी पढ़े | राम मंदिर 'भजन पूजन' का सुझाव देने के लिए उद्धव एक अयोग्य पुत्र: अखिल भारतीय संत समिति: 2 अगस्त 2020 की बड़ी खबरें और मुख्य समाचार LIVE.

अधिकारियों से कहा गया है कि बारिश के दौरान चौबीसों घंटे जलभराव की निगरानी करें और किसी विशिष्ट स्थान पर ‘‘सबूत’’ के तौर पर वीडियोग्राफ या फोटोग्राफ खींचे कि पानी को बाहर निकाल दिया गया है।

एक अधिकारी ने बताया कि मॉनसून के मौसम को देखते हुए मुख्य सचिव ने हाल में विभिन्न एजेंसियों के साथ बैठक की थी और उन्हें निर्देश दिया था कि यह सुनिश्चित करें कि महानगर में जलभराव नहीं हो।

यह भी पढ़े | दिल्ली: पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 961 नए मामले सामने आए, 15 की मौत, 1186 डिस्चार्ज.

पीडब्ल्यूडी ने एक आदेश में कहा, ‘‘संबंधित कार्यपालक अभियंता (सिविल) और कार्यपालक अभियंता (विद्युत) एनडीएमसी, तीनों एमसीडी, डीजेबी, डीडीए, आईएंडएफसी, डीएसआईआईडीसी, रेलवे आदि एजेंसियों से व्यक्तिगत रूप से संपर्क कर समन्वय करेंगे और स्थानीय स्तर पर टीम के तौर पर काम करेंगे और ऐसा नहीं होने पर जवाबदेही तय की जाएगी।’’

इसमें कहा गया कि काम नहीं होने पर संबंधित अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)