विदेश की खबरें | भारतीय जहाज के कैप्टन और चालक दल को लाल सागर बचाव मिशन में अभूतपूर्व साहस के लिए अवार्ड
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

लंदन, 11 जुलाई तेल टैंकर के कैप्टन अभिलाष रावत और उनके चालक दल को लाल सागर बचाव मिशन में उनके साहस और समुद्र में बहादुरी के लिए अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन (आईएमओ) 2024 पुरस्कार विजेता के लिए नामित किया गया है।

अग्निशमन और क्षति नियंत्रण प्रयासों के समन्वय के दौरान "दृढ़ संकल्प और धीरज" का प्रदर्शन करने पर आईएमओ ने रावत और उनके चालक दल को बुधवार को वर्ष 2024 के लिए विजेता घोषित किया। वर्ष की शुरुआत में ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों द्वारा कथित तौर पर दागी गई जहाज-रोधी मिसाइल के उनके जहाज 'मार्लिन लुआंडा' पर गिरने से भीषण आग लग गई थी।

भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस विशाखापत्तनम के कैप्टन बृजेश नांबियार और चालक दल को भी संकट के समय तेल टैंकर की सहायता करने के लिए प्रशस्तिपत्र प्रदान किया गया है।

कैप्टन रावत और उनके चालक दल तथा कैप्टन जॉर्ज फर्नांडो गैलाविज फूएंटेस और टगबोट पेमेक्स माया के चालक दल को मार्शल द्वीप समूह द्वारा पुरस्कार के लिए नामित किया गया। ये लोग दो दिसंबर को लंदन में आईएमओ मुख्यालय में समुद्री सुरक्षा समिति के 109वें सत्र के दौरान प्रस्तावित वार्षिक समारोह में अपने पुरस्कार प्राप्त करेंगे।

15 सदस्य देशों और आईएमओ के साथ परामर्शदात्री स्थिति में तीन गैर-सरकारी संगठनों से कुल 41 नामांकन प्राप्त हुए। नामांकनों की शुरुआत में एक मूल्यांकन पैनल द्वारा समीक्षा की गई और उनकी सिफारिशों पर न्यायाधीशों के एक पैनल ने विचार किया। इसके बाद विजेताओं का चयन किया गया।

न्यायाधीशों के पैनल की सिफारिशों को अब आईएमओ परिषद द्वारा अनुमोदित कर दिया गया है, जिसका 132वां सत्र इस सप्ताह लंदन में आयोजित हो रहा है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)