देश की खबरें | ओडिशा के मुख्यमंत्री के काफिले पर भाजपा समर्थकों ने अंडे फेंके, पुरी में पुलिस थाने का घेराव किया

पुरी (ओडिशा), 24 नवंबर ओडिशा के कालाहांडी में शिक्षिका के अपहरण व हत्या मामले के मुख्य आरोपी से कथित संबंध रखने को लेकर प्रदेश के गृह राज्य मंत्री डी. एस. मिश्रा को पद से हटाने की मांग करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थकों ने बुधवार को पुरी में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के काफिले पर अंडे फेंके।

घटना सरकारी अस्पताल चौक के पास उस वक्त हुई, जब पटनायक पुरी में 331 करोड़ रुपये की ‘हेरिटेज कॉरिडोर परियोजना’ के शिलान्यास समारोह में शामिल होने के बाद भुवनेश्वर लौटने के लिए हैलीपेड जा रहे थे।

पटनायक के काफिले के गुजरने के दौरान भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे भी दिखाए।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि भाजपा और कांग्रेस के 73 कार्यकर्ताओं को इन घटनाओं को लेकर हिरासत में लिया गया।

विपक्षी भाजपा ने मुख्यमंत्री के काफिले को निशाना बनाकर अंडे फेंकने का दावा किया है।

मुख्यमंत्री की यात्रा को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी, लेकिन एक अंडा पटनायक के वाहन की खिड़की की कांच पर जाकर लगा।

भगवा पार्टी के दावे के बाद पुलिस ने भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के पुरी जिला प्रमुख जयंत दास को कथित तौर पर उठा लिया, जिससे इलाके में तनाव पैदा हो गया।

पुरी विधायक जयंत सादंगी और ब्रह्मगिरि विधायक एल. बी. महापात्रा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में भाजपा समर्थकों ने पुरी के कुभरपाड़ा पुलिस थाने के पास धरना दिया।

पुरी से भाजपा विधायक ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमें जयंत दास का कोई अता पता नहीं चल पा रहा। उन्हें पुलिस द्वारा रिहा किये जाने तक हमारा धरना जारी रहेगा। हमें लगता है कि पुलिस ने उनकी पिटाई की है। ’’

इससे पहले पुरी में बड़ा डंडा (ग्रैंड रोड) पर पटनायक को काले झंडे दिखाने के आरोप में भाजपा समर्थित भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) और कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन एनएसयूआई के तीन सदस्यों को हिरासत में लिया गया।

भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष इराशीष आचार्य ने भुवनेश्वर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘जयंत दास के नेतृत्व में हमारे कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के काफिले को निशाना बनाकर अंडे फेंके हैं। यह विरोध तब तक जारी रहेगा जब तक पटनायक अपने कुछ दागी मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करते।’’

बाद में, जगन्नाथ मंदिर के सामने ग्रैंड रोड पर गोबर मिश्रित पानी छिड़ककर विपक्षी कार्यकर्ताओं ने सड़क को ‘‘शुद्ध’’ करने की बात कही और दावा किया कि शिलान्यास समारोह में शामिल हुए राज्य के ‘‘दागी’’ मंत्रियों ने पवित्र पथ से गुजरकर इसे ‘‘अशुद्ध’’ कर दिया था।

शहर के बाहरी इलाके मालतीपतापुर के पास संसदीय कार्य मंत्री बीके अरुखा के काफिले पर भी अंडे फेंके गए। कालाहांडी में शिक्षिका के अपहरण व हत्या मामले में कथित संलिप्तता को लेकर मिश्रा को पद से हटाने की मांग को लेकर विपक्षी दल कई हफ्तों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

इस बीच, ओडिशा प्रदेश कांग्रेस समिति ने मुख्यमंत्री के काफिले पर अंडे फेंके जाने की निंदा की।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने कहा, ‘‘इस तरह के प्रदर्शन से समस्याओं का समाधान नहीं होगा।’’ उन्होंने कहा कि शिक्षिका की हत्या के मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और मंत्री के पद पर रहने तक यह संभव नहीं हो पाएगा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)