देश की खबरें | उत्तर प्रदेश में कोविड-19 से बचाव को लेकर बढ़ायी जाएगी जागरुकता
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

लखनऊ, 16 सितम्बर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर कोविड-19 से बचाव हेतु जन जागरुकता बढ़ाने के उद्देश्य से राज्य के सभी जिलों के प्रमुख चौराहों एवं अन्य भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ (लाउडस्पीकर) स्थापित किये जायेंगे।

इस सिलसिले में प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों से भी नये स्थानों को चिन्हित करके ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ (लाउडस्पीकर) स्थापित करने के लिए जरूरी प्रस्ताव 19 सितम्बर तक मांगा गया है।

यह भी पढ़े | Delhi Riots Case: दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में दाखिल की दंगों की साज़िश से जुड़ी 10 हजार पेज की चार्जशीट.

गृह विभाग के प्रवक्ता के बुधवार को जारी बयान के मुताबिक शासन की योजना पूरे प्रदेश के सभी प्रमुख सार्वजनिक स्थलों, चौराहों, बस अड्डों, आरटीओ कार्यालय, अस्पताल, तहसील, आदि पर ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ की स्थापना करके कोविड़-19 से बचाव एवं जागरुकता कार्यक्रम का अधिकाधिक प्रचार-प्रसार करने की है।

बयान में कहा गया कि प्रमुख सचिव, परिवहन विभाग ने बैठक में जानकारी दी कि उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की सभी बसों में ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ स्थापित करके सभी बस अड्डों पर भी श्रव्य एवं दृश्य के माध्यम से कोविड-19 से बचाव के संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार की योजना है। बयान के अनुसार उन्होंने इसे एक माह में पूर्ण किये जाने का आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़े | Sherlyn Chopra Hot Photos: शर्लिन चोपड़ा ने नेट गाउन पहन फैंस किया हैरान, हॉटनेस देखते रह जाएंगे आप.

बयान के अनुसार प्रमुख सचिव, परिवहन ने यह भी बताया कि इसके अलावा परिवहन विभाग सड़क सुरक्षा के कार्यों के विस्तार में कोविड-19 को देखते हुये क्षेत्र में स्थापित आरटीओ कार्यालय में भी ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ से सम्बन्धित एक कार्य योजना शीघ्र प्रस्तुत करेगा।

बैठक में अपर पुलिस महानिदेशक, मुख्यालय से अपेक्षा की गयी कि वे पूरे राज्य में जहां भी ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ की व्यवस्था प्रचलित है, उसकी सूची तथा उस पर स्थापित उपकरणों की चालू हालत कि स्थिति की जानकारी देते हुये शासन को रिपोर्ट यथाशीघ्र प्रस्तुत करें। उनसे यह भी कहा गया कि इसके अलावा जिन नये स्थानों पर ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ स्थापित किया जाना है, उसके सम्बन्ध में भी एक विस्तृत प्रस्ताव उनके द्वारा शासन के समक्ष तत्काल प्रस्तुत किया जाये।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)