Fack Check: सोशल मीडिया की खबर निकली झूठी, 100 डॉलर के नोट पर महात्मा बसवेश्वर की तस्वीर फेक

नई दिल्ली: सोशल मीडिया (Social Media) के आने से फेक न्यूज (Fake News) जंगल की आग की तरह फैल रही है.एक पोस्ट के मुताबिक अमेरिका ने 100 डॉलर (US Dollar) के नोट पर महात्मा बसवेश्वर (Mahatma Basaveshwar) की तस्वीर का इस्तेमाल कर भारत को सम्मानित किया है. पोस्ट में यह भी दावा किया गया है कि भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अमेरिका का शुक्रिया अदा किया है. Fake News की कैसे करें पहचान? COVID-19 महामारी के दौरान गलत सूचना के प्रसार को रोकने के लिए रखें इन बातों का ख्याल

बता दें कि वायरल पोस्ट फर्जी है, और महात्मा बसवेश्वर की तस्वीर के साथ 100 अमेरिकी डॉलर के नोट की तस्वीर को मॉर्फ किया गया है. अगर भारत को इस तरह से सम्मानित किया जाता या महात्मा बसवेश्वर की तस्वीर का इस्तेमाल यूएसए द्वारा 100 डॉलर के बिल पर किया जाता तो यह निश्चित रूप से मीडिया हाउसेस द्वारा कवर किया जाता.

ये है फेक पोस्ट:

पोस्ट में यह भी दावा किया गया है कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए अमेरिका को धन्यवाद दिया. हालाँकि, पीएम नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट पर इससे संबंधित कोई ट्वीट नहीं किया गया है. एक वेबसाइट मिली जानकारी के अनुसार जिससे 100 डॉलर पर आप कोई भी चेहरा चिपका सकते हैं.

इस वेबसाइट का उपयोग करके लोग कस्टमाइज़ करके 100 के डॉलर का नोट बना सकते हैं. इस वेबसाइट पर दिखाए गए अन्य नोटों का क्रमांक ठीक वैसा ही था जैसा कि महात्मा बसवेश्वर की तस्वीर वाले 100 डॉलर के बिल का था. अब यह स्पष्ट हो गया था कि तस्वीर इसी वेबसाइट का उपयोग करके बनाई गई थी. 100 डॉलर के नोट का दावा करने वाली वायरल पोस्ट में महात्मा बसवेश्वर की तस्वीर नकली है. अमेरिका ने ऐसा कोई कदम नहीं उठाया.