Swati Maliwal Case: कथनी और करनी एक समान होनी चाहिये... स्वाति मालीवाल का CM केजरीवाल के बयान पर पलटवार
(Photo : X)

नई दिल्ली: स्वाति मालीवाल के साथ सीएम हाउस में हुई बदसलूकी की घटना पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का पहला बयान आने के बाद स्वाति मालीवाल ने पलटवार किया है. स्वाति मालीवाल ने सीधे सीएम केजरीवाल को निशाना बनाकर कहा कि कथनी और करनी एक समान होनी चाहिए. अरविंद केजरीवाल ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की बात कही थी. उन्होंने कहा था कि दोनों पक्षों की शिकायतों की निष्पक्षता की जांच करनी चाहिए और न्याय मिलना चाहिए. Swati Maliwal New Video: आप ने शेयर किया स्वाति मालीवाल का नया वीडियो, सुरक्षाकर्मियों ने CM आवास से निकाला था बाहर.

स्वाति मालीवाल ने एक्स पर किए अपने एक पोस्ट में लिखा, 'मेरे कंप्लेंट फाइल करते ही नेताओं और वालंटियर की पूरी आर्मी मेरे पीछे लगाई गई, मुझे BJP का एजेंट बुलाया गया, मेरा चरित्र हरण कराया गया, काट पीट के वीडियो लीक की गई, मेरी victim shaming करी गई, आरोपी के साथ घूमे, उसको क्राइम सीन पे दोबारा आने दिया और सबूत से छेद छाड़ करी गई, आरोपी के लिये ख़ुद सड़क पे उतर गये, और अब मुख्यमंत्री साहब जिनके ड्राइंग रूम में मुझे पीटा गया, वो कह रहे हैं कि उन्हें इस मामले में निष्पक्ष जांच चाहिए. इससे बड़ी विडंबना क्या ही होगी. मैं इसे नहीं मानती. कथनी और करनी एक समान होनी चाहिये.

अरविंद केजरीवाल ने क्या कहा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनके आवास पर आम आदमी पार्टी (आप) की सांसद स्वाति मालीवाल के साथ हुई कथित मारपीट को लेकर पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए बुधवार को कहा कि वह मामले में निष्पक्ष जांच चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मामले में न्याय होना चाहिए.

बता दें कि स्वाति मालीवाल ने आरोप लगाया है कि 13 मई को जब वह केजरीवाल से मिलने मुख्यमंत्री आवास पर गई थी तो उनके निजी सहायक बिभव कुमार ने उनसे ‘मारपीट’ की थी. पुलिस मामला दर्ज कर कुमार को गिरफ्तार कर चुकी है.