Karnataka: सत्ताधारी बीजेपी में घमासान? MLC विश्वनाथ ने कहा- येदियुरप्पा की हालत सरकार चलाने जैसी नहीं, बेटे पर लगाया गंभीर आरोप
सीएम बीएस येदियुरप्पा (Photo Credits: ANI)

बेंगलुरु: कर्नाटक (Karnataka) के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) के नेतृत्व को लेकर सत्ताधारी बीजेपी में घमासान जारी है. पार्टी के कई नेता खुलकर येदियुरप्पा की अगुवाई वाली सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं. बीजेपी एमएलसी एएच विश्वनाथ (AH Vishwanath) ने कहा कि सरकार और पार्टी के बारे में जनता की राय नकारात्मक हो गई है, जो अच्छी बात नहीं हे. कर्नाटक में नेतृत्व के मुद्दे पर प्रदेश भाजपा में कोई भ्रम नहीं: बीएस येदियुरप्पा

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए गुरुवार को बीजेपी नेता ने कहा कि येदियुरप्पा की आयु, स्वास्थ्य अब सीएम के तौर पर सरकार चलाने जैसी नहीं है. उन्होंने कहा “उनके मार्गदर्शन में उस स्थान पर किसी और को स्थान देना चाहिए. मैंने अरुण सिंह (Arun Singh) से बात की  है कि प्रशासन में पारिवारिक दखल से हालात खराब है.”

विश्वनाथ ने आगे कहा “कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा के बेटे बीवाई विजयेंद्र (BY Vijayendra) और उनके दोस्त कह रहे थे कि हम पैसे इकट्ठा करते हैं और यह दिल्ली जाता है. ख़राब प्रोपगंडा भी यहां है. मैंने कर्नाटक बीजेपी के राष्ट्रीय प्रभारी महासचिव अरुण सिंह को भी बताया.” उन्होंने सिंचाई विभाग के 20 हजार करोड़ के टेंडर में भी गड़बड़ी का आरोप लगाया है.

एक दिन पहले ही अरुण सिंह ने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई एकजुट है और मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में राज्य सरकार अच्छा काम कर रही है. राज्य के तीन दिवसीय दौरे पर आए सिंह ने येदियुरप्पा को हटाने के लेकर कुछ वर्गों में चल रही अटकलों के बीच नेतृत्व में बदलाव को लेकर प्रत्यक्ष रूप से कोई बयान नहीं दिया और कहा कि वह इस मुद्दे पर पहले ही बोल चुके हैं. बुधवार को सिंह ने एक सवाल के जवाब में कहा, ''हमारे पार्टी कार्यकर्ता, मंत्री और विधायक एकजुट हैं. किसी तरह का कोई मतभेद नहीं है.''

सिंह ने शहर में आने पर पत्रकारों से कहा कि उन्होंने पार्टी विधायकों से कहा है कि वे मीडिया में कोई बयान न दें और अगर उनकी कुछ चिंताएं हैं तो व्यक्तिगत रूप से नेतृत्व से बात करें. सिंह ने कहा कि येदियुरप्पा के नेतृत्व में अच्छा काम हो रहा है. सिंह ने हाल ही में मुख्यमंत्री को बदलने से इनकार कर दिया था और कहा था कि येदियुरप्पा शीर्ष पद पर बने रहेंगे.

कर्नाटक बीजेपी अध्यक्ष नलीन कुमार कटील ने भी राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की संभावना से बुधवार को एक बार फिर इनकार कर दिया. हालांकि वरिष्ठ मंत्री के एस ईश्वरप्पा ने कहा कि पार्टी के भीतर का एक धड़े का मानना है कि मुख्यमंत्री येदियुरप्पा को हटाया जाना चाहिए. दरअसल पिछले कुछ समय से अटकलें लगाई जा रही हैं कि सत्तारूढ़ बीजेपी का एक वर्ग येदियुरप्पा को हटाने की कोशिश कर रहा है.