दिल्ली सरकार का बड़ा समझौता, बहु-स्तरीय बस डिपो निर्माण और डीटीसी संपत्तियों के पुनर्विकास के लिए एनबीसीसी के साथ MOU पर हस्ताक्षर
परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Photo Credits Delhi Govt)

दिल्ली परिवहन निगम (DTC) ने आज विभिन्न स्थानों पर स्थित डीटीसी के प्रमुख भूमि पार्सलों के विकास के लिए राष्ट्रीय भवन निर्माण निगम लिमिटेड (NBCC) के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किया.  समझौता ज्ञापन दिल्ली के परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत की उपस्थिति में हस्ताक्षरित किये गए. इस मौके पर परिवहन आयुक्त, एमडी (डीटीसी), एमडी (एनबीसीसी) और परिवहन विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे.

NBCC इस समझौता ज्ञापन के अंतर्गत परियोजना प्रबंधन सलाहकार के रूप में कार्य करेगा जिसके तहत बहु-स्तरीय बस पार्किंग डिपो का निर्माण , डीटीसी की आवासीय कॉलोनियों का पुनर्विकास और वाणिज्यिक सुविधाओं का विकास शामिल है। । एनबीसीसी पहले चरण में वसंत विहार डिपो, शादीपुर आवासीय कॉलोनी, हरि नगर आवासीय कॉलोनी और हरि नगर I और II डिपो का पुनर्विकास करेगा. यह भी पढ़े:  केजरीवाल सरकार दिल्ली को करेगी Pollution Free, इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर स्थापित करने के लिए परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने संभावित स्थानों पर की चर्चा

मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा “डीटीसी और एनबीसीसी ने हरि नगर और वसंत विहार में देश के पहले सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस बहु-स्तरीय बस डिपो बनाने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं.  अब अधिक बसें सीमित उपलब्ध स्थान पर खड़ी की जा सकती हैं.  "प्रति बस पार्किंग लागत" भी बहुत कम होगी.

डीटीसी और NBCC के बिच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के बाद परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत ने एक बयान में कहा “माननीय मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में परिवहन विभाग ने पिछले 1 वर्ष में कई नई पहल की हैं। आम लोगों के लिए हम विश्व स्तरीय पब्लिक ट्रांसपोर्ट सुविधा सुनिश्चित करने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं।आज हमने परिवहन आधारभूत सुविधाओं को मजबूत करने की दिशा में एक बड़ा कदम उठाया है। डीटीसी और एनबीसीसी के बीच इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के साथ ही हम भारत के पहले मल्टी-लेवल बस डिपो निर्माण की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। एनबीसीसी, डीटीसी की कुछ अन्य संपत्तियों का भी पुनर्विकास करेगा। मुझे खुशी है कि इन परियोजनाओं को जीरो वेस्ट और सेल्फ- सस्टेनेबल मॉडल पर विकसित किया जाएगा.

दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली (GNCTD) के विभिन्न प्रमुख स्थानों पर कई डिपो, टर्मिनलों, कार्यशालाओं और आवासीय कालोनियों का मालिक है। पिछले कई वर्षों में डीटीसी बसों की पार्किंग बढ़ाने के लिए विभिन्न संभावनाएं तलाश रहा था। इस समझौता ज्ञापन द्वारा डीटीसी का उद्देश्य बहु-स्तरीय बस पार्किंग डिपो निर्माण, आवासीय कॉलोनियों का विकास और डिपो और टर्मिनलों का व्यावसायीकरण है। अगले कुछ महीनों में डीटीसी के अंतर्गत और अधिक बसें शामिल होंगी , ऐसे में पार्किंग आवशयक्ताओं को देखते हुए उपलब्ध भूमि के प्रभावी उपयोग को सुनिश्चित करने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है.